शर्म आनी चाहिए सदन से माफ़ी मांगें… राहुल गांधी के बयान पर संसद में मचा बवाल

60

rahul-gandhi-statements

नई दिल्लीः लोकसभा का बजट सत्र एक महीने के अवकाश के बाद सोमवार को फिर से शुरू हुआ है। लोकसभा में आज सत्ता पक्ष ने राहुल गांधी के लंदन में भारतीय लोकतंत्र पर की गई टिप्पणियों का मुद्दा उठा और उनसे माफी सदन में मांगने को कहा गया। वहीं एजेंसियों की ओर से विपक्षी दलों पर कार्रवाई के मुद्दे पर कुछ विपक्षी सांसद सदन के बीचोंबीच आकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। लोकसभा का बजट सत्र एक महीने के अवकाश के बाद सोमवार को फिर से शुरू हुआ है।

इस बीच रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने विदेश में भारतीय लोकतंत्र पर राहुल गांधी द्वारा की गई टिप्पणियों पर सवाल उठाए। राजनाथ सिंह ने कहा कि राहुल गांधी ने देश का अपमान किया है और लोकतंत्र पर सवाल उठाया है और विदेशी ताकतों से भारत में हस्तक्षेप की मांग की है। उन्हें लगता है कि सदन को उनके बयान का खंडन करना चाहिए और उन्हें माफी मांगने का निर्देश देना चाहिए।

ये भी पढ़ें..Nepal में तेजी से बढ़ रही चीन के नागरिकों की सक्रियता, बढ़ रहा अपराध का ग्राफ

वहीं इस मामले में कांग्रेस पर हमला करते हुए मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा कि राहुल गांधी में थोड़ी भी शर्म बची है, तो वे इस मुद्दे पर माफी मांगें। पिछले 74 सालों में किसी भी भारतीय नेता ने विदेश में जाकर अपनी सरकार की इस तरह से आलोचना नहीं की। इसी बीच विपक्ष के कई नेता सदन के बीचोंबीच आ गए और सरकार के विरोध में नारे लगाने लगे। इसके बाद लोकसभा अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही को 2:00 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया।

इसके अलावा केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने भी राहुल गांधी के बयान को लेकर उनपर निशाना साधा। पीयूष ने कहा, “एक प्रमुख विपक्षी नेता विदेश जाते हैं और भारतीय लोकतंत्र पर हमला करते हैं। राहुल ने भारत और सांसदों का अपमान किया है। भारत में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है और सांसद संसद में बोल सकते हैं। हम मांग करते हैं कि राहुल गांधी संसद आएं और देश की जनता और सदन से माफी मांगें।”

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)