UP: दो लाख का इनामी नीलेश राय मुठभेड़ में ढेर, हत्या, लूट व डकैती जैसे कई केस थे दर्ज

23
up-nilesh-rai--bounty-killed-encounter

मुजफ्फरनगरः बिहार का कुख्यात अपराधी और यूपी में 2.25 लाख रुपये का इनामी नीलेश राय (Nilesh Rai) जिले के रतनपुरी थाना क्षेत्र में मुठभेड़ में मारा गया। मुठभेड़ में मारा गया वांछित अपराधी फरवरी माह से बिहार पुलिस पर फायरिंग कर फरार था। बिहार और यूपी पुलिस उसकी कई दिनों से तलाश कर रही थी। अपर पुलिस महानिदेशक (यूपी एसटीएफ एवं कानून व्यवस्था) अमिताभ यश ने गुरुवार को बताया कि बिहार के बेगूसराय जिले का रहने वाला नीलेश राय शातिर अपराधी था।

पुलिस को मिली थी सटीक सूचना

उस पर हत्या, लूट और रंगदारी समेत 16 गंभीर अपराधों के मामले दर्ज थे। इन आपराधिक घटनाओं में यूपी के साथ ही बिहार के सीमावर्ती इलाकों में हुई घटनाएं भी शामिल हैं। इसी के चलते बेगूसराय के कुख्यात अपराधी नीलेश पर 2.25 लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था। एडीजी अमिताभ यश ने बताया कि बुधवार-गुरुवार की दरम्यानी रात वांछित अपराधी नीलेश के अपने गिरोह के साथ मुजफ्फरनगर में होने की सटीक सूचना मिली थी।

सूचना के आधार पर यूपी एसटीएफ और बिहार एसटीएफ की नोएडा यूनिट के संयुक्त अभियान में वांछित अपराधी को रतनपुरी इलाके में घेर लिया गया। घेराबंदी देख अपराधियों ने फायरिंग शुरू कर दी। इस मुठभेड़ के दौरान बेगूसराय निवासी बिहार के कुख्यात अपराधी नीलेश राय को गोली लगी और वह घायल हो गया। उसे इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। मामले में आगे की कानूनी कार्रवाई की जा रही है।

यह भी पढ़ेंः- NDA की बैठक में बड़ा फैसला: मोदी को चुना गया नेता, नायडू और नीतीश ने किया समर्थन

बिहार पुलिस पर फायरिंग के बाद फरवरी से फरार था अपराधी नीलेश

एडीजी अमिताभ यश के मुताबिक मुठभेड़ में मारा गया इनामी नीलेश शातिर अपराधी था। इसी साल 21 फरवरी को उसने अपने गिरोह के सदस्यों के साथ मिलकर बेगूसराय के गरहरा थाना क्षेत्र में छापेमारी कर उसे गिरफ्तार करने आई पुलिस टीम पर अंधाधुंध फायरिंग की थी और मौके से फरार हो गया था। बिहार पुलिस टीम पर अंधाधुंध फायरिंग के बाद से ही वह फरार था। बिहार पुलिस लगातार उसकी तलाश कर रही थी।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)