UP Elections: मेरठ की सरधना सीट पर कांग्रेस ने 7 तो भाजपा को 6 बार मिली जीत

सरधाना

मेरठः मुजफ्फरनगर संसदीय क्षेत्र का हिस्सा मेरठ की सरधना विधानसभा सीट पर इस बार भी दिलचस्प मुकाबला होगा। भाजपा ने दो बार के विधायक संगीत सोम को चुनाव मैदान में उतारा है तो दो बार से चुनाव हार रहे अतुल प्रधान सपा के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं। सरधना विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस को 07 बार तो भाजपा को 06 बार जीत मिली है। मेरठ जनपद की सरधना विधानसभा सीट पर सबसे पहला चुनाव 1952 ईसवी में हुआ था। उस समय कांग्रेस के फतेह सिंह राणा विधायक चुने गए। 1957 और 1962 में कांग्रेस के रामजीलाल सरधना से विधायक बने।

ये भी पढ़ें..भाजपा जॉइन करने के बाद बहू अपर्णा ने मुलायम से लिया आशीर्वाद

1967 में कांग्रेस के धर्मवीर सिंह, 1967 और 1969 में कांग्रेस के जमादार सिंह को जीत हासिल हुई। इसके बाद कांग्रेस का सरधना सीट पर वर्चस्व टूट गया। 1974 में भारतीय क्रांति दल के नजीर अहमद विधायक चुने गए। 1977 में जेएनपी के बलवीर सिंह ने जीत दर्ज की। आखिर बार 1980 में कांग्रेस के सैय्यद जकीउद्दीन सरधना सीट से विधायक चुने गए। 1985 में लोकदल के अब्दुल वहीद कुरैशी को सरधना की जनता ने चुनाव जिताया।

भाजपा ने लगाई हैट्रिक

1989 में भाजपा के अमरपाल सिंह को विधायक चुना गया। 1991 में जनता दल के विजयपाल सिंह तोमर ने जीत हासिल की। 1993, 1996 और 2002 में भाजपा के प्रो. रविंद्र पुंडीर ने सरधना सीट से जीत की हैट्रिक लगाई। 2007 में सरधना से बसपा प्रत्याशी चंद्रवीर सिंह ने विजय प्राप्त की। 2012 और 2017 में भाजपा के संगीत सोम इस सीट से विधायक चुने गए। 2022 में भी भाजपा ने संगीत सोम को चुनाव मैदान में उतारा है।

सरधना के कई प्रत्याशी बाद में पहुंचे संसद

सरधना सीट से चुनाव लड़ चुके कई प्रत्याशियों ने बाद में संसद में भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। 1989 में विधायक चुने गए भाजपा के अमरपाल सिंह ने बाद में मेरठ संसदीय क्षेत्र से तीन बार सांसद बनने में सफलता प्राप्त की। इसी तरह से 1991 में जनता दल के टिकट पर विधायक बने विजयपाल सिंह तोमर इस समय भाजपा के राज्यसभा सदस्य है। सरधना सीट से विधानसभा चुनाव लड़ चुकी तबस्सुम हसन बाद में कैराना से लोकसभा का चुनाव जीतकर सांसद बनी।

सरधना सीट पर मतदाताओं की संख्या 03 लाख 57 हजार 36 है। इनमें से 01 लाख 93 हजार 875 पुरुष और 01 लाख 63 हजार 104 महिला मतदाता हैं। जबकि अन्य मतदाता 57 हैं। भाजपा ने इस बार सरधना सीट से दो बार के विधायक संगीत सोम, सपा ने अतुल प्रधान, बसपा से संजीव धामा और कांग्रेस के सैय्यद रिहानुद्दीन को चुनाव मैदान में उतारा है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)