आतिशी के अनशन स्थल पर नौकरी से निकाले गए बस मार्शलों ने खूब काटा बवाल

29
delhi-water-dispute

Delhi Water Dispute, नई दिल्ली: दिल्ली (Delhi) में पानी की किल्लत को लेकर जल मंत्री आतिशी अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर हैं। आतिशी का आरोप है कि हरियाणा दिल्ली को उसके हक का पानी नहीं दे रहा है। इस दौरान शनिवार को आतिशी के धरना स्थल के पास पहुंचे नौकरी से निकाले गए बस मार्शलों ने जमकर बवाल काटा । सिविल डिफेंस कर्मियों का आरोप है कि वह बसों में मार्शल के पद पर तैनात थे, लेकिन सरकार ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया। ये लोग पिछले सात-आठ महीने से बेरोजगार हैं, इनके पास नौकरी नहीं है, खाने को कुछ नहीं है।

आप कार्यकर्ताओं पर लगाया मारपीट का आरोप

इतना ही नहीं सिविल डिफेंस कर्मियों ने आरोप लगाया कि प्रदर्शन के दौरान आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने इनके साथ मारपीट भी की। प्रदर्शनकारी सिविल डिफेंस कर्मचारियों का कहना है कि जब हमने अपनी नौकरी की मांग को लेकर प्रदर्शन किया तो हमें बीजेपी के गुंडे कहा गया। इन लोगों ने हमें बीजेपी के गुंडे करार दिया। हमने कोरोना काल में सबसे ज्यादा मेहनत की। हमने अपनी जान जोखिम में डालकर लोगों की सेवा की, लेकिन आज सरकार हमारी मांगों को नजरअंदाज कर रही है।

दस हजार से ज्यादा बस मार्शलों की समाप्त कर दी गई सेवाएं

बता दें कि पिछले साल अक्टूबर में दिल्ली में दस हजार से ज्यादा सिविल डिफेंस वॉलंटियर्स की सेवाएं समाप्त कर दी गई थीं। इस दौरान लोगों ने सीएम अरविंद केजरीवाल के खिलाफ नारेबाजी की और अपनी नौकरी वापस करने की मांग की। नारेबाजी कर रहे लोगों ने कहा कि हम अपनी नौकरी वापस पाने के लिए प्रदर्शन कर रहे हैं, जो हमसे छीन ली गई है। हम बस मार्शलों को बिना किसी कारण के हटा दिया गया है। हमारे साथ मारपीट की गई, हमें धक्के देकर बाहर निकाला गया। हम अपने अधिकारों की मांग कर रहे हैं।

ये भी पढ़ेंः- Delhi Water Crisis: पानी के लिए अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठी मंत्री आतिशी

हम पिछले आठ महीने से बेरोजगार

प्रदर्शन में शामिल लोगों ने आरोप लगाया कि दिल्ली सरकार ने पिछले आठ महीनों से उन्हें बेरोजगार कर रखा है। पहले हमारा वेतन रोका गया और फिर हमें नौकरी से निकाल दिया गया। हमने सिर्फ अपनी नौकरी वापस पाने की मांग की है। अमन ने कहा कि हम बस मार्शल हैं, हमें आठ महीने से नौकरी नहीं मिली है। दिल्ली सरकार ने हमारी नौकरी छीन ली, हमें सिर्फ अपनी नौकरी चाहिए। हम भाजपा के लोग नहीं हैं, हम सिर्फ मार्शल हैं और अपनी नौकरी के लिए लड़ रहे हैं।

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने सिविल डिफेंस कर्मचारियों के प्रदर्शन को लेकर केजरीवाल सरकार को घेरा और कहा कि केजरीवाल सरकार ने सिविल डिफेंस कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया। हमने भी उनके लिए लड़ाई लड़ी, आज जब ये लोग अपनी समस्याएं लेकर उनके पास जा रहे हैं तो वे उन्हें भाजपा कार्यकर्ता कह रहे हैं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)