कस्बा में टीएमसी के दो गुटों के बीच हिंसक झड़प, बमबाजी के लगे आरोप

8
tmc

कस्बा: लोकसभा चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद से ही पश्चिम बंगाल में हिंसा का दौर शुरू हो गया है। शनिवार के बाद रविवार को भी कस्बा के इंदु पार्क इलाके में तृणमूल कांग्रेस के दो गुट आपस में भिड़ गए। आरोप है कि शनिवार रात बाहरी अपराधियों ने इलाके में उत्पात मचाया था। फिर रविवार दोपहर पूर्व पार्षद सुशांत घोष और उनके गुट ने मौजूदा पार्षद लिपिका मन्ना के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई।

स्थानीय लोगों ने क्या कहा?

इसके बाद रविवार रात फिर इलाके में हमला हुआ। स्थानीय लोगों का आरोप है कि शनिवार रात राजदंगा इंदुपार्क वार्ड नंबर 107 में हमला किया गया। इस लोकसभा चुनाव में इस वार्ड में तृणमूल कांग्रेस का प्रदर्शन खराब रहा है। लिपिका गुट इसके लिए पूर्व पार्षद सुशांत घोष और उनके समर्थकों को जिम्मेदार ठहरा रहा है।

इसे भी पढ़ें-दबंगों के हौसले हुए बुलंद, ज्वेलरी बाजार में की लूट की कोशिश

इसके बाद आरोप लगाया गया कि लिपिका मन्ना का गुट इलाके में जाकर चरणबद्ध तरीके से हमला कर रहा है। आरोप है कि रात में लाइट बंद करके बमबाजी की गई। मौके से गोलियों के खोखे मिले हैं। कसबा थाने में लिखित शिकायत दर्ज कराई गई है। स्थानीय निवासी ने कहा, लिपिका मन्ना के लड़के महिलाओं पर अत्याचार कर रहे हैं।

चुनाव नतीजों के बाद बढ़ी घटनाएं- सुशांत घोष

सुशांत कुमार घोष ने कहा, चुनाव परिणाम आने के बाद से ही यह घटना चल रही है। इतने सालों से टीएमसी के लिए काम कर रहे लोगों पर चुन-चुन कर ये अत्याचार किए जा रहे हैं। मैंने घटना की जानकारी जिला अध्यक्ष देबाशीष कुमार को दी है। लेकिन अज्ञात कारणों से पुलिस उन पर कुछ नहीं कर रही है। कल थाने में शिकायत दर्ज होने के बाद उपद्रवी बेलगाम हो गए हैं। मैं पार्टी नेतृत्व और ममता बनर्जी से अनुरोध करता हूं कि वे इस मामले को खुद देखें, नहीं तो बड़ी घटना हो सकती है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)