संत रविदास की जन्मस्थली पर लगी आस्था की कतार, सीएम चन्नी ने भी टेका मत्था

103

वाराणसीः संत शिरोमणि रविदास जयंती पर बुधवार को उनकी जन्मस्थली सीर गोवर्धनपुर में सुबह से ही आस्था की कतार लगी हुई है। संत शिरोमणि के दरबार में पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने भी मत्था टेका। इसके बाद रविदासिया धर्म प्रमुख संत निरंजन दास का आशीर्वाद लेकर उन्होंने सदगुरु महाराज की अमृतवाणी भी पूरे आस्था के साथ सुनी। पंजाब के मुख्यमंत्री ने मेले में लगभग एक किलोमीटर तक घूमकर पंडाल, लंगर और रसोइयों को भी देखा। रैदासियों के साथ फोटो भी खिंचाई। इसके पहले मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी भोर में ही बाबतपुर स्थित एयरपोर्ट से सीधे श्री काशी विश्वनाथ मंदिर पहुंचे।

बाबा विश्वनाथ का विधिवत दर्शन-पूजन करने के बाद संत रविदास की जन्म स्थली सीर गोवर्धनपुर पहुंचे। रविदास मंदिर में संत निरंजन दास ने उनका स्वागत किया। मुख्यमंत्री चन्नी रविदास मंदिर में दर्शन पूजन करने के वापस पंजाब वापस लौट गए। विधानसभा चुनाव के बीच संत रविदास जयंती मनाई जा रही है। ऐसे में दलित मतों को कांग्रेस के पाले में करने के लिए पंजाब के मुख्यमंत्री चन्नी का गुरु की जन्मस्थली में आना पहले से ही तय माना जा रहा था। रविदासिया धर्म प्रमुख संत निरंजनदास के आशीर्वाद के लिए अन्य दलों के नेताओं में भी होड़ है।

ये भी पढ़ें..रेलवे ट्रैक पर लेटकर ले रहे थे सेल्फी, मौत बनकर आई ट्रेन, कटकर चार युवकों की मौत

दरबार में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी पहुंच गए हैं। दोपहर में कांग्रेस के शीर्ष नेता राहुल गांधी-प्रियंका गांधी भी पहुंच रहे हैं। आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सदस्य संजय सिंह सहित कई अन्य नेता भी सीर गोवर्धनपुर पहुंचेंगे। मंदिर में रविदास मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी राजनेताओं का स्वागत कर रहे है। खास बात यह है कि दरबार में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी दो बार, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी, राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आदि मत्था टेकने के बाद लंगर छक चुके हैं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)