राजस्थान

Jaipur: धूमधाम से मनाया गया बैसाखी का पर्व, गुरुद्वारों में श्रद्धालुओं की भीड़

baisaakhi ka parv

Jaipur: प्रदेशभर की गुरुद्वारा सिंह सभा में आज यानी 13 अप्रैल को धूमधाम से बैसाखी का पर्व मनाया गया। इस दौरान गुरुद्वारों में श्रद्धालुओं की भीड़ देखी गई साथ ही गुरुद्वारा साहिब में गुरु का अटूट लंगर भी बरताया गया। लंगर में लोगों की सेवा करने के लिए लोगों नें भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। 

सेवादार ने दी पर्व के बारे में जानकारी 

 सीकर में सेवादार परविंदर कौर ने इस पर्व के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि, बैसाखी के पर्व का सिक्ख धर्म के लोग नववर्ष के रुप में मनाते है। कहा जाता है कि, बैसाख माह में रबी की फसल की कटाई शुरू होती है। किसान अच्छी फसल के लिए वाहेगुरु का आभार जताते है। जानकारी देते हुए हेड ग्रंथी गुलशन सिंह ने बताया कि बैसाखी के दिन सिखों के दसवें गुरु श्री गुरु गोबिंद सिंह ने सन् 1699 में खालसा पंथ की स्थापना की थी। तभी से बैसाखी का त्योहार धूमधाम से मनाया जाता है। गुरु गोबिंद सिंह के आह्वान पर धर्म के रक्षा के लिए जो पंज प्यारों की साजना की थी। बैसाखी के दिन ही महाराजा रणजीत सिंह को सिख साम्राज्य का प्रभार सौंपा गया था, जिन्होंने एकीकृत राज्य की स्थापना की थी। 

ये भी पढ़ेंः-ग्रेटर नोएडा : शादी समारोह से लौट रहे थे तीन भाई-बहन, सड़क हादसे में दो की मौत

साथ ही हेड ग्रंथी ने कहा कि, बैसाखी का पर्व दुनिया भर में सिखों के बीच एकता, दोस्ती और सौहार्द की भावना को बढ़ावा देने वाला भी है। वहीं इस मौके पर सूरज तनेजा, और उपाध्यक्ष सुरेंद्र त्रिहन के साथ नेक सेवादार मौजूद रहे। 

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)