पावर प्लांट के अंदर 50 फीट की ऊंचाई पर लटकता मिला कर्मचारी का शव, दो दिन से था लापता

रायपुर : जांजगीर-चांपा जिले के डभरा थाना क्षेत्र में एक पावर प्लांट के अंदर कर्मचारी का शव 50 फीट की ऊंचाई पर मिला है। वह तीन अगस्त से लापता था। उसका पता नहीं चलने पर परिजनों ने गुरुवार को गेट के बाहर धरना भी दिया था। अब उसका शव आखिरकार प्लांट के अंदर ही फंदे पर लटका मिला है।

डभरा के उचपिंडा में आरकेएम पावर प्लांट है। यहां बॉयलर डिपार्टमेंट में मालखरौदा क्षेत्र का रहने वाला गजेंद्र मनहर (28) हेल्पर के रूप में काम करता था। पिछले 6 साल से वो यहीं काम कर रहा था। रोज की तरह तीन अगस्त को भी सुबह ड्यूटी पर गया था। मगर वापस घर नहीं लौटा था। जिसके बाद से उसकी तलाश की जा रही थी, देर शाम तक भी उसका कुछ पता नहीं चला था।

ये भी पढ़ें..‘सुपरस्टार सिंगर 2’ के सेट पर बहन की स्पीच सुन फूट-फूटकर…

अगले दिन 04 अगस्त को परिजनों ने गेट के बाहर जाकर धरना दे दिया था। उनका कहना था कि युवक प्लांट से ही लापता हुआ और यहां ही किसी को पता नहीं चला। फिर दिन भर परिजन गेट के बाहर ही बैठे रहे थे। फोर्स को भी तैनात किया गया था। पुलिस से भी मामले की शिकायत की गई थी। जिसके बाद पुलिस ने प्लांट के अंदर भी उसकी तलाश की। इसके बाद देर शाम ही प्लांट के बॉयलर एरिया में निर्माणाधीन लिफ्ट में 50 फीट ऊपर उसका शव मिल गया। बाद में शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया था। शुक्रवार को शव का पोस्टमार्टम के बाद शव का अंतिम संस्कार भी कर दिया गया है।

इधर, गजेंद्र की मौत के बाद प्रबंधन ने उसके परिजनों को मुआवजा भी दिया है। परिजनों को तत्काल 11 लाख रुपये की नगद सहायता की गई है। इसके अलावा परिवार के एक शख्स को नौकरी देने का ऐलान किया गया है। पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के असल कारणों का पता चल सकेगा। फिलहाल मामले में जांच जारी है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)