स्विट्जरलैंड ने किया विश्व कप के लिए भारतीय तीरंदाजों को वीजा देने से इंकार

नई दिल्लीः स्विट्जरलैंड ने 17 से 23 मई तक ल्यूसाने में होने वाले विश्व कप (दूसरे चरण) में भाग लेने के लिए भारतीय तीरंदाजों को वीजा देने से मना कर दिया है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में बढ़ते कोरोना और यात्रा संबंधी प्रतिबंधों के कारण स्विट्जरलैंड की दूतावास ने भारतीय तीरंदाजी टीम को वीजा जारी करने से इनकार कर दिया है। इसके बाद भारतीय तीरंदाजी संघ ने विदेश मंत्रालय से वीजा दिलाने के लिए गुहार लगाई है।

गौरतलब है कि दीपिका कुमारी और अतानु दास ने ग्वाटेमाला में हुए विश्व कप में व्यक्तिगत स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता था और उसके बाद रिकर्व तीरंदाजी टीम को दूसरे विश्व कप में भी भेजा जा रहा था। 21 से 27 जून तक पेरिस में होने वाले ओलंपिक क्वालीफाइंग विश्व कप से पहले यह विश्व कप महिला तीरंदाजों के लिए बेहद महत्वपूर्ण माना जा रहा है। इसी टूनार्मेंट में भारतीय महिला टीम के पास ओलंपिक कोटा हासिल करने का मौका है।

यह भी पढ़ेंः-भावुक हुए साइमन डुल, इस बात के लिए भारतीय फैंस से मांगी माफी

व्यक्गित स्पर्धा में अब तक दो बार की ओलंपियन दीपिका कुमार ने ही टोक्यो ओलंपिक के लिए कोटा हासिल किया है जबकि भारतीय महिला रिकर्व ने अब तक टोक्यो ओलंपिक का कोटा नहीं कटाया है। पुरुषों की रिकर्व टीम में प्रवीण जाधव, तरुणदीप राय और अतनु दास ने पहले ही ओलंपिक खेलों के लिए टीम स्पर्धा और व्यक्तिगत वर्ग के लिए क्वालीफाई कर लिया है। उन्होंने 2019 में नीदरलैंड में तीरंदाजी विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक जीतकर टोक्यो ओलंपिक का टिकट कटाया था।