समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता देने पर आज होगी ‘सुनवाई, इस कपल ने दायर की याचिका

समलैंगिक
समलैंगिक

नई दिल्लीः समलैंगिक विवाह को कानूनी मान्यता देने के लिए सुप्रीम कोर्ट में एक कपल ने याचिका दाखिल की थी। चीफ जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाली बेंच आज इस मामले को सुनेगी। दरअसल हैदराबाद के रहने वाले सुप्रियो चक्रवर्ती और अभय डांग पिछले दस सालों से साथ रह रहे हैं। इनकी याचिका में कहा गया है कि समलैंगिक विवाह को भी स्पेशल मैरिज एक्ट के तहत लाया जाना चाहिए। कोरोना की दूसरी लहर के दौरान दोनों इससे संक्रमित हो गए। अब उन्होंने तय किया है कि दोनों शादी कर लें। साथ रहने की नौवीं सालगिरह पर दोनों ने शादी करने की घोषणा की।

ये भी पढ़ें..भीलवाड़ा में युवक की गोली मारकर हत्या, शहर में बवाल, 48 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा बंद

याचिका में स्पेशल मैरिज एक्ट को असंवैधानिक करार देने की मांग की गई है। याचिका में कहा गया है कि स्पेशल मैरिज एक्ट समान लिंग वाले जोड़ों और विपरीत लिंग वाले जोड़ों में भेदभाव करता है। याचिका में नवतेज सिंह जोहार के मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले का हवाला दिया गया है जिसमें एलजीबीटी समुदाय के लोगों को बराबरी, गरिमा और निजता के अधिकार दिए गए हैं। ऐसे में एलजीबीटी समुदाय के लोगों को अपनी मर्जी के व्यक्ति से शादी करने का अधिकार मिलना चाहिए।

उनकी याचिका में कहा गया है कि एक दूसरे को कमिटमेंट देने के बाद भी वह विवाहित जोड़े के अधिकारों का आनंद नहीं ले सकते हैं। याचिकाकर्ताओं ने तर्क दिया है कि भारत के सुप्रीम कोर्ट ने हमेशा अपनी पसंद के व्यक्ति से शादी करने के लिए अंतर-जातीय और अंतर-धार्मिक जोड़ों के अधिकार की रक्षा की है। याचिका में दलील दी गई है कि समलैंगिक विवाह को भी सभी अधिकार मिलने चाहिए।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)