सपा ने निर्वाचन आयोग को भेजा पत्र, चार वरिष्ठ अफसरों को हटाने की मांग

लखनऊः उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव की तिथियों के ऐलान के बाद से ही राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गयी है। हर राजनीतिक दल चुनाव की तैयारियों में जुट गया है। वहीं विपक्ष को यह भय भी सता रहा है कि सत्तारूढ़ भाजपा प्रशासनिक मशीनरी का भी चुनाव में उपयोग कर सकती है।

इसी क्रम में समाजवादी पार्टी ने भारतीय निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर दो आईएएस और दो आईपीएस अधिकारियों को हटाने की मांग की है, ताकि उत्तर प्रदेश में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव किया जा सके। ध्यान देने वाली बात यह है कि सपा ने जो आरोप पत्र निर्वाचन आयोग को भेजा है उसमें सभी अधिकारियों के पदनाम गलत हैं। सपा सचिव राजेंद्र चौधरी द्वारा भेजे गए पत्र में आरोप लगाया गया है कि ये अधिकारी भाजपा कार्यकर्ताओं की तरह काम कर रहे थे।

यह भी पढ़ें-कोरोना की 12 खुराक लेने के आरोप में बुजुर्ग के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज

पत्र में जिन अधिकारियों के नाम हैं, वे- अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश अवस्थी, अपर मुख्य सचिव (सूचना) नवनीत सहगल, अपर महानिदेशक (एडीजी) कानून एवं व्यवस्था प्रशांत कुमार और एडीजी, स्पेशल टास्क फोर्स अमिताभ यश हैं। पत्र में आगे कहा गया है कि चूंकि ये अधिकारी प्रभावशाली पदों पर हैं, इसलिए स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव तब तक संभव नहीं होगा, जब तक उन्हें हटाया नहीं जाता।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)