सपा मुखिया अखिलेश यादव ने लगाई कामदगिरि की परिक्रमा, की ये कामना

406

चित्रकूटः भगवान श्रीराम की तपोभूमि चित्रकूट के दौरे के दूसरे दिन शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मनोकामनाओं के पूरक भगवान श्री कामतानाथ के द्वार पर माथा टेका। साथ ही धर्म नगरी के जगदाचार्य मदन गोपाल दास महाराज समेत प्रमुख साधु संतों का आशीर्वाद लिया। इसके अलावा 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत की कामना को लेकर कामदगिरि पर्वत की पंचकोसीय परिक्रमा लगाई।

पूरी परिक्रमा के दौरान सपाइयों ने जमकर भगवान श्री कामतानाथ जी के जयकारे लगाये। परिक्रमा के दौरान पथ पर दुकानदारों ने उनसे मुलाकात की तो उन्होंने भरोसा दिया की दुकानों को उजड़ने नहीं दिया जाएगा।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का काफिला शुक्रवार की सुबह भीषण कोहरे के बीच कर्वी स्थित लोक निर्माण विभाग के डाक बंगाला से निकला और सीधे भगवान कामतानाथ के दरबार में पहुंचा। कामदगिरि प्रमुख के महंत जगदाचार्य संत मदन गोपाल दास ने पूर्व मुख्यमंत्री को विधिवत भगवान श्री कामतनाथ की पूजा अर्चना कराई। इसके बाद सपा मुखिया ने 2022 के विधानसभा चुनाव में पार्टी की ऐतिहासिक जीत की कामना को लेकर कामदगिरि पर्वत की पंचकोसीय परिक्रमा शुरू की।

उनके साथ पार्टी प्रवक्ता एमएलसी सुनील सिंह साजन, शिक्षक सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रो. बी. पांडेय, पूर्व विधायक वीर सिंह पटेल, पूर्व प्रत्याशी डॉ निर्भय सिंह पटेल, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष शिवशंकर यादव, पूर्व जिलाध्यक्ष भैयालाल यादव समेत सैकड़ों समर्थकों की भीड़ भी चल पड़ी। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भगवान श्री कामतनाथ और जय सियाराम के जयकारों के बीच पंचकोशी परिक्रमा पूरी की। इसी दौरान खोही की जलेबी वाली गली में करीब दस मिनट तक वह रुके। इस दौरान दुकानदारों के साथ बैठकर चाय पी और उनकी समस्या को सुना। गया केशरवानी, महेश केशरवानी, छोटू तिवारी और गणेश तिवारी आदि दुकानदारों ने अतिक्रमण अभियान के तहत दुकानें उजाड़े जाने की समस्या को बताया।

यह भी पढ़ेंः-यूपीः जहरीली शराब पीने से 4 लोगों की मौत, कई बीमार, दोषियों पर लगेगा NSA

इस पर पूर्व मुख्यमंत्री श्री यादव ने दुकानदारों को भरोसा दिया कि किसी भी कीमत पर उनकी दुकानें नहीं उजड़ने दी जाएंगी। परिक्रमा के दौरान उन्होंने कामतानाथ प्राचीन द्वार, तृतीय मुखारबिंद, बरहा हनुमान मंदिर, भरत मिलाप समेत कई प्रमुख मंदिरों में दर्शन किए। इससे पूर्व गुरुवार की शाम लक्ष्मण पहाड़ी में उनके शासनकाल में स्वीकृत हुए 15 करोड़ के रोपवे का निरीक्षण किया। साथ ही परिक्रमा में लगी दुकानों से लकड़ी के खिलौने और डमरू खरीदा। पूर्व सीएम के दौरे को लेकर सपाइयों में खासा उत्साह है। पूर्व सीएम चित्रकूट में आयोजित पार्टी के तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में समापन सत्र में शिरकत करने के लिए आये हुए हैं।