हिन्दू साम्राज्य दिवस समारोह का हुआ आयोजन, राष्ट्र गौरव छत्रपति शिवाजी महाराज को किया गया याद

24
shivaji-had-established-

लखनऊः राजधानी के जियामऊ स्थित अधीश सभागार में गुरुवार को संवाद नगर की ओर से हिन्दू साम्राज्य दिवस समारोह मनाया गया। मंचासीन अतिथियों द्वारा छत्रपति शिवाजी महाराज के चित्र पर पुष्पांजलि के बाद कार्यक्रम की शुरूआत हुई। इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अवध प्रान्त के प्रान्त प्रचारक प्रमुख यशोदानन्दन उपस्थित रहे।

हिन्दू पद पादशाही की स्थापना

प्रान्त प्रचारक प्रमुख यशोदानन्दन ने स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज का जीवन हम सभी के लिए प्रेरणादायी है। छत्रपति शिवाजी महाराज के समय की परिस्थिति अगर हम देखेंगे तो ध्यान में ये बात आती है कि उस समय समाज अत्याचारों से ग्रस्त था,पीड़ित था। समाज अपना आत्मविश्वास खो बैठा था। ऐसे समय में छत्रपति शिवाजी महाराज ने हिन्दू पद पादशाही की स्थापना की थी। गोवंशहत्या प्रतिबंधित की। स्वधर्म का, स्वदेशी यानी स्वशासन शिवाजी महाराज ने लागू किया।

हिन्दू धर्म छोड़कर जा चुके लोगों की घर वापसी कराई। उन्होंने मराठी और संस्कृत को राजकाज की भाषा बनाया। छत्रपति शिवाजी की नौसेना और उनके पोत तोपों से सुसज्जित थे। उन्होंने अंडमान द्वीप समूह पर भी निगरानी चौकियां स्थापित की थी।

यह भी पढ़ेंः-Noida News: नोएडा में गर्मी बन रही है काल, बीते 3 दिनों में 75 शव पहुंचे पोस्टमार्टम हाउस

कार्यक्रम की अध्यक्षता नगर संघचालक नरेन्द्र मिश्र ने की। मुख्य शिक्षक दीपक कुमार रहे। इस अवसर पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य प्रेम कुमार, जिला प्रचारक अजीत कुमार, सह नगर कार्यवाह विजय विश्वकर्मा, नगर कार्यवाह संदीप चतुर्वेदी, सह नगर कार्यवाह शशिकांत, नगर व्यवस्था प्रमुख शिव कुमार,नगर कार्यकारिणी के राम कुमार मोदी, विश्वास मौर्य व शिवेन्द्र प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)