शहजाद ने फायरिंग की और जवाबी कार्रवाई में मारा गया ! जानिए क्या हुआ था उस रात

gun fire

गुनाः गुना में पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में पुलिस लगातार सर्चिंग कर रही है। जंगलों में पुलिस की कई टीमें खोजबीन कर रही हैं और फरार आरोपियों की तलाश कर रही हैं। घटना के अगले दिन ही पुलिस ने एक आरोपी को एनकाउंटर में ढेर कर दिया था। एनकाउंटर टीम में शामिल राघोगढ़ टीआई अवनीत शर्मा ने उस रात की कहानी बताई।

टीआई ने बताया कि घटना के बाद से ही एसपी के मार्गदर्शन में टीमें सक्रिय हो गई थीं। खुद एसपी ममले को लीड कर रहे थे। आरोपियों को जल्द पकड़ने के निर्देश दिए गए थे। आरोन से लेकर राघोगढ़ तक के जंगल मे पुलिस की कई टीमें लगाई गई थी। देर रात सूचना मिली की मामले का एक आरोपी बिदौरिया गांव के पीछे जंगल मे छुपा है। एसपी ने पुलिस को तत्काल घेराबंदी कर आरोपी को पकड़ने के निर्देश दिए। इसके बाद टीम बिदौरिया के जंगल में दबिश देने पहुंची। वहां टीम तीन टुकड़ियों में बंट गई। अलग-अलग दिशा से टीमें जंगल में आरोपी को तलाश के लिए निकल गईं। जैसे ही, टीम पहाड़ी के ऊपर पहुंची, एक तरफ से किसी ने फायर किया। गोली टीम में शामिल आरक्षक को लगी। पुलिस ने भी जवाबी फायरिंग शुरू की। इसके बाद उसने दूसरा फायर किया। पुलिस की टीम ने भी बचाव में फायरिंग की। इसी क्रॉस फायर में एक आरोपी मारा गया। पुलिस की गोली से मुख्य आरोपी शहजाद ढेर हो गया। मौके पर वरिष्ठ अधिकारी भी पहुंच गए और मुआयना किया।

यह भी पढ़ेंः-पीएम मोदी महापरिनिर्वाण प्रतिमा के समक्ष हुए नतमस्तक, वैश्विक शांति के…

पिता ने की शिनाख्त

एनकाउंटर के बाद आरोपी की शिनाख्त के लिए उसके पिता निसार खान को पुलिस टीम स्पॉट पर लेकर पहुंची। इससे कुछ देर पहले ही उन्हें बजरंगगढ़ थाने से लाकर घर छोड़ा गया था। थोड़ी देर बाद ही पुलिस की टीम दोबारा उसके घर पहुंची। उसे गाड़ी में बिठाकर ले गयी। फिर वापस जंगल की तरफ उसे ले जाया गया, जहां उसने एनकाउंटर में मारे गए व्यक्ति की शिनाख्त शहजाद के रूप में की।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)