शाह ने मिशन 2022 के लिए विंध्याचल से किया शंखनाद

लखनऊः भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की तैयारियां तेज कर दी हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बाद केन्द्रीय गृह मंत्री और सहकारिता मंत्री अमित शाह रविवार को प्रदेश के दौरे पर आए हैं। मां विंध्यवासिनी के दरबार में शक्ति पूजा के साथ मिशन यूपी के लिए उन्होंने शंखनाद किया। इससे पहले राजधानी लखनऊ में एक कार्यक्रम को संबोधित कर उन्होंने चुनावी रणनीति को गति दी।

दोनों जनसभाओं में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने यूपी की योगी सरकार की जमकर सराहना की। उन्होंने कहा कि यूपी इस समय केन्द्र सरकार की 44 बड़ी योजनाओं के क्रियान्वयन में नंबर एक बना हुआ है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में हर क्षेत्र में विकास किया है। कोरोना जांच से लेकर टीकाकरण तक के मामले में प्रदेश ने देश में पहला स्थान प्राप्त किया है।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने इस दौरान यूपी की कानून व्यवस्था की भी जमकर तारीफ की। कहा कि यूपी में जहां पहले खुलेआम माफिया घूमा करते थे, वहां अब कोई माफिया दिखाई नहीं पड़ता है। पूरा प्रदेश दंगा मुक्त हो चुका है। माताएं और बहने सुरक्षित हैं। उन्होंने कहा कि योगी सरकार ने प्रदेश में 1,574 करोड़ रुपये की माफिया की संपत्ति जब्त की है। लूट, डकैती, हत्या जैसी घटनाओं में 28 से 50 प्रतिशत तक की कमी आ चुकी है।

2022 के लिए मांगा आशीर्वाद

अमित शाह ने अपने संबोधन के दौरान प्रदेश की जनता से 2022 के विधानसभा चुनाव के लिए आशीर्वाद भी मांगा। उन्होंने कहा कि यूपी की जनता ने वर्ष 2014, 2017 और 2019 में भाजपा को आशीर्वाद दिया, जिसके चलते केन्द्र में मोदी की सरकार और प्रदेश में योगी की सरकार जनहित में कार्य कर रही है। उन्होंने लोगों से कहा, ‘‘आपके आशीर्वाद का ही परिणाम है कि 500 वर्षों से लंबित अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मंदिर बनना प्रारम्भ हो गया है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री भी उत्तर प्रदेश से ही सांसद बनकर देश की संसद में जाते हैं। वह जानते हैं कि उत्तर प्रदेश वालों की अपेक्षा क्या है। प्रधानमंत्री यह भी जानते हैं कि उत्तर प्रदेश को कैसे आगे बढ़ाना है। अमित शाह ने कहा कि 2017 में यूपी में भाजपा की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री योगी ने पार्टी के संकल्प पत्र के सभी संकल्पों को पूर्ण किया है। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर भी जमकर प्रहार किया।

यह भी पढ़ेंः-तीन तलाक पर रोक की दूसरी वर्षगांठ पर मनाया गया ‘मुस्लिम महिला अधिकार दिवस’

अमित शाह ने अपने संबोधन में लोगों को भावनात्मक रूप से जोड़ा और कहा कि कोरोना के चलते वह यूपी में काफी दिन बाद आए हैं। कहा, ‘यूपी आना मुझे अपने घर जैसा लगता है।’ वर्ष 2013 से 2019 तक वह यूपी के चप्पे-चप्पे तक गए। दरअसल अमित शाह इस काल अवधि में पार्टी के यूपी प्रभारी थे। इस दौरान उन्होंने पूरे प्रदेश का सघन दौरा कर राज्य की सियासी नब्ज को बड़ी गहराई के साथ परखा था। उनके कार्यकाल में ही भाजपा ने यहां से 2014 के लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी। बाद में पार्टी ने 2017 का विधानसभा चुनाव भी भारी जनादेश के साथ जीतकर करीब 14 साल बाद प्रदेश की सत्ता में वापसी की थी।