क्रिकेट मैच की टिकटों की बिक्री को लेकर बवाल, खेल मंत्री ने दी एचसीए को चेतावनी

हैदराबादः हैदराबाद क्रिकेट संघ (एचसीए) में हमेशा कुछ न कुछ विवाद चलता रहता है। एचसीए की साधारण सभा की बैठक हो या खिलाड़ियों का चयन अथवा किसी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच का आयोजन, हर मामले में एचसीए के पदाधिकारी व सदस्य एक-दूसरे से उलझते रहते हैं। अब यहां 25 सितंबर को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच श्रृंखला के तीसरे टी-20 मैच के टिकटों की बिक्री को लेकर भी अच्छा-खासा बवाल मचा है।

गुरुवार सुबह पूर्व निर्धारित समय के अनुसार 10 बजे हैदराबाद के जिमखाना ग्राउंड्स टिकट बिक्री की शुरू हुई। काउंटर खुलने से पहले ही हजारों दर्शक यहां पहुंच गए और टिकट बिक्री शुरू होते ही 15 मिनट बाद सभी टिकट की बिक्री बंद कर दी गई और शेष टिकट को ऑनलाइन बेचने की बात कही गई। लंबी लाइनों में खड़े लोगों में आक्रोश फैल गया और भगदड़ मच गई, जिसमें 15 से अधिक दर्शक घायल हुए हैं और कई को बेहोशी की हालत में स्थानीय अस्पताल में ले जाया गया। स्थिति पर कंट्रोल करने के लिए पुलिस को लाठी चार्ज भी करनी पड़ा। क्रिकेट प्रेमियों ने मैच के टिकटों को लेकर काला बाजारी करने के आरोप पुलिस और हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन के प्रबंधन पर लगाए।

हैदराबाद क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष पूर्व कप्तान अजहरुद्दीन ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि वे कल प्रेस कांफ्रेंस के जरिए इन आरोपों का उत्तर देंगे। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन बिक्री के लिए भी टिकट नहीं बचे हैं।

इस सम्बंध में राज्य के खेल मंत्री श्रीनिवास गौड़ ने एचसीए को कड़ी चेतावन दी। उन्होंने चेताया कि किसी भी रूप में में टिकटों की काला बाजारी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव भी इस मामले को लेकर काफी गंभीर हैं। हैदराबाद क्रिकेट संघ के सचिव आर. विजय आनंद ने टिकट बिक्री के मामले पर स्पष्टीकरण दिया।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)