Rajasthan: कई शहरों में हुई झमाझम बारिश, इन 26 जिलों में अलर्ट जारी

87
Rajsthan-cities-including-sri

Rajsthan, जयपुरः बंगाल की खाड़ी से मानसून के सक्रिय होते ही इसका असर राजस्थान में देखने को मिल रहा है। गुरुवार से प्रदेश में प्री-मानसून का दौर शुरू हो गया। वहीं, अब गर्मी का दौर भी खत्म हो गया है। प्री-मानसून के शुरू होने के पहले ही दिन अधिकांश जिलों में बारिश हुई। कोटा में शुक्रवार सुबह हुई बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिली। सीकर में भी सुबह से बादल छाए हुए हैं। गुरुवार को मौसम में आए बदलाव के बाद प्रदेश के जयपुर, भरतपुर, बीकानेर, कोटा और अजमेर संभाग के जिलों में अच्छी बारिश हुई। श्रीगंगानगर, जयपुर, सीकर समेत कई जिलों में एक इंच (25 मिमी) तक पानी गिरा।

प्री-मानसून का दौर शुरू

करीब एक माह बाद जयपुर में दिन का अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे आया है। मौसम विशेषज्ञों के अनुसार उत्तर भारत में सक्रिय हुए पश्चिमी विक्षोभ और पूर्वी भारत से आ रही नम हवाओं के कारण प्री-मानसून की बारिश का दौर शुरू हो गया है। मौसम विज्ञान केंद्र जयपुर ने आगामी चार दिन यानि 24 जून तक प्रदेश में इसी तरह का मौसम और आंधी चलने की संभावना जताई है। पिछले 24 घंटे में सबसे अधिक 26 मिमी बारिश श्रीगंगानगर शहर में दर्ज की गई। श्रीगंगानगर, बीकानेर, हनुमानगढ़, चूरू में पश्चिमी विक्षोभ के असर से दोपहर बाद मौसम बदल गया और बादल छाने के साथ तूफानी हवाएं चलने लगीं। देर रात तक चूरू, हनुमानगढ़, श्रीगंगानगर में रुक-रुक कर तूफानी बारिश हुई।इससे पहले जयपुर, भरतपुर, दौसा, सवाई माधोपुर, धौलपुर, अलवर, भीलवाड़ा, अजमेर, टोंक समेत कई जिलों में बादल छाए रहे और बारिश हुई। दौसा, सवाई माधोपुर, भीलवाड़ा में बारिश के साथ तेज हवाएं चलीं।

कोटा से करेगा प्रवेश

मौसम में आए इस बदलाव के चलते गुरुवार को कई शहरों के तापमान में तीन डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट दर्ज की गई। चित्तौड़गढ़, उदयपुर, जयपुर, भरतपुर, भीलवाड़ा, अजमेर और सिरोही में दिन का अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा। राजधानी जयपुर में कल दोपहर करीब 1 बजे से बारिश का दौर शुरू हो गया। छिटपुट बारिश के कारण जयपुर में कल दिन का तापमान 38 डिग्री सेल्सियस से ऊपर नहीं गया। जयपुर एयरपोर्ट पर दोपहर में तेज बारिश हुई और यहां 17.6 मिमी बारिश मापी गई। जयपुर शहर में जेएलएन मार्ग, मालवीय नगर, जगतपुरा, मानसरोवर, सांगानेर के ग्रामीण इलाकों, कोटपूतली, बस्सी, चाकसू, कोटखावदा, फागी में भी कई जगह अच्छी बारिश हुई। मौसम विज्ञान केंद्र जयपुर के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि बंगाल की खाड़ी से आ रहे मानसून की सक्रियता के कारण अब राजस्थान में समय पर मानसून आने के संकेत मिल रहे हैं। 26 से 28 जून के बीच उदयपुर और कोटा से मानसून राजस्थान में प्रवेश करेगा।

यह भी पढ़ेंः-UGC-NET परीक्षा धांधली मामले में CBI ने दर्ज की किया केस, परीक्षा से पहले लीक हो गया था पेपर

उन्होंने बताया कि इससे पहले प्रदेश में प्री-मानसून गतिविधियां जारी रहेंगी। मौसम विज्ञान केंद्र ने सभी जिलों में बारिश का येलो अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने अगले एक पखवाड़े में प्री-मानसून और मानसून की सामान्य बारिश होने का अनुमान जताया है। फिलहाल राजस्थान में 73 फीसदी कम बारिश हुई है। राजस्थान में 1 जून से 20 जून तक 25.1 मिमी बारिश होनी चाहिए थी, लेकिन 6.8 मिमी ही बारिश हुई है। अगले एक सप्ताह तक पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान में सामान्य बारिश का अनुमान है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)