राजस्थान सरकार ने तय किया रैपिड एंटीजन टेस्ट की कीमतों का निर्धारण, निजी लैब 200 रुपये में करा सकेंगे टेस्ट

जयपुरः राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने कोरोना संबंधी रैपिड एंटीजन टेस्ट की कीमतों का निर्धारण कर दिया है। ये टेस्ट अब प्राईवेट लैब में 200 रुपये में करवाया जा सकेगा। इससे पहले अप्रैल में राज्य सरकार ने आरटीपीसीआर टेस्ट की कीमत को 500 रुपये से कम करके 350 रुपये किया था। जबकि, पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश में इसी टेस्ट की दर निजी लैब में 300 रुपये है।

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग से जारी आदेशों के मुताबिक ये टेस्ट किसी भी प्राइवेट अस्पताल या निजी लैब पर की जा सकेगी। इस टेस्ट को निजी लैब में शुरू करने का मुख्य उद्देश्य जल्दी परिणाम लाना है, ताकि शुरूआती लक्षण दिखने पर मरीज की जांच कर उसका परिणाम देख सके और उपचार शुरू हो सके। अस्पतालों की ओपीडी में आने वाले सर्दी, खांसी, जुकाम और बुखार के मरीजों के लिए ये टेस्ट उपयुक्त माना गया है।

यह भी पढ़ेंःमर्चेंट नेवी में पाएं एडवेंचर के साथ मोटी सैलरी, हमेशा रहती है मांग

सरकार से जारी आदेशों के तहत राज्य में जिस भी निजी अस्पताल या लैब पर ये जांच होगी, उस संस्था को जांच की रिपोर्ट का डेटा सरकारी साइट पर अपलोड करना होगा। ये डेटा संबंधित जिले की सीएमएचओ की ओर से जारी आरटीपीसीआर पोर्टल पर ही अपलोड होगा। राजस्थान में मई से सरकार ने आरटीपीसीआर के अलावा एंटीजन टेस्ट करवाने को भी मंजूरी दी थी। इस टेस्ट में भी व्यक्ति के नाक और मुंह से सैंपल लेकर उसे एक किट में लगाया जाता है। इसका परिणाम 3-4 मिनट में आ जाता है। राजस्थान में अभी बड़े स्तर पर सरकार एंटीजन टेस्ट ही करवा रही है। जयपुर में ही कई पीएचसी ऐसी है जहां आने वाले हर मरीज जिनमें कोरोना के लक्षण दिखते है उनके एंटीजन टेस्ट ही किए जा रहे है।