राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय की परीक्षाएं 2 अगस्त से, 60 हजार छात्र देंगे परीक्षा

प्रयागराज : उप्र राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय, प्रयागराज की सत्र जुलाई -2022 की परीक्षाएं प्रदेश के 139 केंद्रों पर आगामी 2 अगस्त 2022 से प्रारंभ हो रही हैं। इन परीक्षा केंद्रों में 8 केंद्रीय कारागार भी शामिल हैं। परीक्षा में लगभग 60 हजार परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। यह जानकारी आज यहां देते हुए कुलपति प्रोफेसर सीमा सिंह ने बताया कि परीक्षाएं 14 सितंबर तक संचालित की जाएंगी।

उन्होंने बताया कि प्रमाण पत्र, डिप्लोमा तथा पीजी डिप्लोमा की परीक्षाएं 2 अगस्त से 8 अगस्त तक तीन पालियों में प्रातः 7:00 से 10:00 बजे तक, दिन में 11:00 से 2:00 बजे तक तथा शाम को 3:00 से 6:00 तक आयोजित की जाएंगी। इसके अतिरिक्त स्नातक और परास्नातक तथा शेष परीक्षाएं 10 अगस्त से 14 सितंबर तक 2 पालियों में प्रातः 9:00 से 12:00 तथा दोपहर 1:00 से 4:00 तक होंगी।

ये भी पढ़ें..भारत का पहला मंकीपाॅक्स से संक्रमित मरीज हुआ ठीक, जल्द…

उन्होंने बताया कि सभी विषयों के परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र ऑनलाइन कर दिए गए हैं। जिन्हें डाउनलोड कर परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल हो सकते हैं। प्रोफेसर सिंह ने बताया कि गोरखपुर रीजन तथा प्रयागराज रीजन में सबसे अधिक 21 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं । इसके अतिरिक्त वाराणसी रीजन में 19, लखनऊ रीजन तथा आजमगढ़ रीजन में 13, अयोध्या रीजन में 10, कानपुर रीजन में 9, आगरा रीजन में 8, झांसी रीजन में 7, मेरठ रीजन में 6, गाजियाबाद रीजन तथा बरेली रीजन में 2 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं। कुलपति प्रोफ़ेसर सिंह ने बताया कि विश्वविद्यालय जेल बंदियों की शिक्षा के लिए लगातार प्रयासरत है। इस बार पूरे प्रदेश में 8 केंद्रीय कारागारों प्रयागराज, आगरा, आजमगढ़, गाजियाबाद, अयोध्या, बरेली, मेरठ और फतेहपुर केंद्रीय कारागार में जेल बंदियों को परीक्षा दिलाई जाएगी।

उन्होंने बताया कि परीक्षा को पारदर्शिता पूर्ण ढंग से सकुशल संपन्न कराने के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। जिसके अंतर्गत इस बार परीक्षा कक्ष के अंदर केंद्र प्रभारी के अतिरिक्त अन्य सभी का मोबाइल प्रतिबंधित रहेगा। इसके साथ ही परीक्षा केंद्र के प्रवेश द्वार सहित प्रत्येक कक्ष में सीसीटीवी कैमरा भी लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि पूरे प्रदेश में नकल विहीन परीक्षा कराने के लिए उड़ाका दल एवं पर्यवेक्षक दल का गठन किया गया है। कुलपति प्रोफेसर सिंह ने बताया कि प्रदेश में किसी भी केंद्र पर किसी भी परीक्षार्थी को कोई परेशानी न हो, परीक्षार्थियों की समस्या के त्वरित समाधान के लिए परीक्षा नियंत्रक कार्यालय में सहायता पटल स्थापित किया गया है। जहां परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र के डाउनलोड होने में आ रही समस्याओं तथा अन्य प्रकार की समस्याओं का समाधान किया जा रहा है। परीक्षा केंद्रों के समीप पर्याप्त सुरक्षा बल की तैनाती के लिए प्रदेश के पुलिस महानिदेशक से आग्रह किया गया है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)