पत्रकार पर भड़के राहुल गांधी, कहा-गुप्त सूचनाएं लीक करना ‘देशभक्ति’ का कार्य नही

52

नई दिल्लीः पूर्व कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी ने कहा कि एक सुनियोजित हमले से संबंधित राष्ट्र की गुप्त सूचना से जुड़ी संवेदनशील जानकारी को पत्रकार को लीक करना एक ‘आपराधिक कृत्य’ है और इसके पीछे जिम्मेदार लोगों को जेल में डाला जाना चाहिए। सीआरपीएफ के काफिले पर पुलवामा में आतंकी हमले के बाद बालाकोट में हवाई हमले पर चर्चा करने वाले कथित चैट के बारे में एक सवाल पर राहुल गांधी ने कहा कि किसी भी संवेदनशील जानकारी का लीक होना एक आपराधिक कृत्य है। यह उस व्यक्ति पर लागू होता है जो इसे भेजता है और जो व्यक्ति इसे प्राप्त करता है।

यह भी पढ़ें-गृह मंत्री ने की दिल्ली पुलिस की काबिलियत की सराहना, दिए शत-प्रतिशत अंक

उन्होंने कहा कि सुनियोजित हवाई हमले से जुड़ी जानकारी राष्ट्र का एक संवेदनशील मुद्दा था, जो केवल प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृह मंत्री, केंद्रीय रक्षा मंत्री, भारतीय वायु सेना प्रमुख और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के पास होता है। राहुल ने कहा कि मैं यह जानना चाहता हूं कि प्रधानमंत्री, गृह मंत्री, रक्षा मंत्री या एनएसए में से किसने पत्रकार को गुप्त जानकारी लीक की है। यह एक आपराधिक कृत्य है। अगर पत्रकार को इस तरह की जानकारी उसके व्हाट्सएप पर होती है, तो मुझे लगता है कि यह संभवतः पाकिस्तानियों के पास भी उपलब्ध हो सकती है।

उन्होंने यह भी कहा कि एक पत्रकार को इस तरह की जानकारी लीक करने से भारतीय वायुसेना के फाइटर जेट्स और पायलटों को खतरा है और यह ‘देशभक्ति’ का कार्य नहीं है। उन्होंने कहा कि ऐसी गुप्त जानकारी लीक करने वालों को जेल में डालने की प्रक्रिया शुरू होनी चाहिए।