मिलिए 71 साल की राधामणि से, ट्रक-बस से लेकर 11 तरह के वाहन चलाने में हैं माहिर

लखनऊ: मैं जिंदगी का साथ निभाता चला गया…  साहिर लुधियानवी की ये लाइनें केरल की राधामणि (Radhamani) पर बिल्कुल सटीक बैठती हैं। राधामणि (Radhamani) अपनी मेहनत और लगन से जिंदगी का भरपूर साथ निभा रही हैं और हर एक पल को संजीदगी से जी रही हैं। 71 साल की राधामणि की उम्र पर न जाइएगा, इन्होंने अपने बुलंद हौसलों से ये साबित कर दिया है कि उम्र तो केवल अंक ही होते हैं।

केरल के कोच्चि की रहने वाली राधामणि आज सबके लिए प्रेरणा बन गई हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि जिस उम्र में महिलाएं अपने नाती-पोतों के साथ समय बिताती हैं, उस उम्र में राधामणि बस, ट्रक, लारी, ट्रैक्टर जैसे भारी वाहन चलाती हैं। केवल इतना ही नहीं, 2021 में भारी वाहन का लाइसेंस पाने वाली राधामणि केरल राज्य की पहली महिला हैं। उनका जज्बा और उपलब्धियां हर किसी को प्रेरित कर रहा है।

ये भी पढ़ें..इस चित्रकार ने बिना ब्रश के बनाई 450 मीटर की पेंटिंग,…

कोच्चि के थेप्पुमपड़ी की रहने वाली राधामणि ने 30 साल की उम्र में ड्राइविंग सीखना शुरू किया था और आज उनके पास 11 अलग-अलग तरह के वाहन चलाने का लाइसेंस है। 1998 में उन्होंने बस और लारी चलाने के लिए लाइसेंस मिलने के बाद थेप्पुमपड़ी से चेरथला के बीच पहली बार बस चलाई थी।

राधामणि को गाड़ी चलाने का शौक पहले से था। उन्होंने अपने पिता से ड्राइविंग के गुर सीखे और शादी के बाद उनके इस हौसले को उड़ान दी उनके पति ने, जिन्होंने 1979 में A टू Z नाम से ड्राइविंग स्कूल खोला। 2004 में उनके पति की मृत्यु के बाद राधामणि ही ट्रेनिंग स्कूल का संचालन करती हैं। 

राधामणि अपने परिवार के साथ रहती हैं। आज राधामणि ड्राइविंग की ट्रेनिंग नहीं देती हैं, लेकिन स्कूल के कंप्यूटर आपरेशन का कामकाज संभालती हैं। वो इस उम्र में भी नई चीजें सीखने में किसी से पीछे नहीं हैं। अब 71 साल की राधामणि मैकेनिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कर रही हैं, और उम्र के सामने हिम्मत हार जाने वाले लोगों को जिंदगी का पाठ सिखा रही हैं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)