जरा हटके

आखिर क्यों नहीं डूबती हाजी अली की दरगाह...? जानें वजह

Haji Ali
Haji Ali, नई दिल्लीः आखिर समुद्र के बीच बनी इस दरगाह में भयंकर तूफान के बाद भी पानी की एक बूंद क्यों नहीं आती? यह किसी बड़े चमत्कार से कम नहीं है, इसके पीछे क्या कारण है, दरअसल इसके पीछे की कहानी यह बताई जाती है कि, जब पीर हाजी अली शाह ने पहली बार व्यापार करने के लिए अपना घर छोड़ा था, तो वह मुंबई के वर्ली इलाके में थे। कई दिनों तक वहां रहे, जिसके बाद उन्होंने अपना पूरा जीवन यहीं बिताने का फैसला किया।

जरूरतमंदों को बांट दी सारी संपत्ति

हाजी अली शाह ने अपनी मां को पत्र लिखा कि उन्होंने अपना समय यहीं रहकर बिताने का फैसला किया है। उन्होंने अपनी मां से अपनी सारी संपत्ति जरूरतमंदों में बांटने को कहा। जिसके बाद वह उसी स्थान पर रहकर अपने धर्म का प्रचार करने लगे।

समुद्र में बहाया गया शव

अपनी संपत्ति गरीबों में बांटने के बाद वह सबसे पहले हज यात्रा पर निकले, लेकिन दुर्भाग्यवश इसी यात्रा के दौरान उनकी मृत्यु हो गई। कहा जाता है कि हाजी अली की आखिरी इच्छा थी कि उन्हें दफनाया न जाए बल्कि उनके शरीर को समुद्र में फेंक दिया जाए। उनकी इच्छा के अनुसार उनके शव को पानी में बहा दिया गया, जिसके बाद उनका ताबूत अरब सागर से होता हुआ मुंबई में उसी स्थान पर एक चट्टान से टकराकर रुक गया। यह भी पढ़ेंः-सीएम योगी ने सुनी लोगों की समस्याएं, दिया न्याय दिलाने का भरोसा जिसके बाद 1431 में उसकी स्मृति में उस स्थान पर एक दरगाह का निर्माण किया गया। यही कारण है कि आज भी भयानक तूफान या बारिश का पानी समुद्र के बीच स्थित हाजी अली की दरगाह तक नहीं पहुंच पाता है। (अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)