इतिहास रचने की तैयारी, ‘गोरक्षधाम’ के दीप बनेंगे ‘अयोध्या दीपोत्सव’ के गवाह

गोरखपुरः गुरु गोरखनाथ की धरती गोरखपुर स्थित गोरक्षधाम के बने दीयों से अयोध्या में होने वाले ‘दीपोत्सव’ कार्यक्रम को यादगार बनाने की तैयारी चल रही है। यहां के बने दीये ही ‘दीपोत्सव’ के गवाह बनेंगे। माटी कला बोर्ड, खादी ग्रामोद्योग विभाग और जिला उद्योग केंद्र से मिले अत्याधुनिक उपकरणों के सहारे शिल्पकार इस काम में जुटे हुए हैं।

श्रीरामजन्मभूमि मंदिर निर्माण आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाली गुरु गोरखनाथ की भूमि के शिल्पकार भी इस दीपोत्सव को खास बनाने में जुटे हैं। अयोध्या के दीपोत्सव में इस बार लाखों की संख्या से दीप गोरखपुर से जाएंगे। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के उल्लास का भाव यहां के शिल्पकारों में भरा है। प्रभु श्रीराम की धरती को बाबा गोरखनाथ की मिट्टी से बने दीये से जगमगाने के लिए वे जी जान से जुटे हैं। इस बार वे डिजाइनर दिए भी बना रहे मसलन टेराकोटा शिल्पकारों ने कलश वाले दीये, स्वास्तिक व कछुए की पीठ पर दीए बनाए हैं।

चीन को आईना दिखाने का आह्वान

दीपावली पर चीन निर्मित उत्पादों के बहिष्कार के बाद पूजा के लिए लक्ष्मी-गणेश की प्रतिमा और मिट्टी के आकर्षक दीये बनाने का काम इन दिनों जोर-शोर से चल रहा है। एक जिला एक उत्पाद योजना में शामिल होने के बाद टेराकोटा के कलाकार बड़े शहरों के साथ स्थानीय स्तर पर मूर्तियों, दीयों व सजावटी सामान की डिमांड को पूरा करने के लिए दिनरात काम में जुटे हैं। स्वयं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शिल्पकारों का आह्वान किया था कि वे इतनी गुणवत्ता वाली गौरी गणेश की प्रतिमाएं और दीए बनाएं कि लोगों को चीन के उत्पाद खरीदने की जरूरत ही महसूस न हो।

खादी ग्रामोद्योग एवं माटी कला बोर्ड ने दिए डिजायन

जिले के शिल्पकारों का खादी ग्रामोद्योग एवं माटी कला बोर्ड ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर हौसला बढ़ाया। न केवल डिजाइनर दीए बनाने के लिए डाई उपलब्ध कराई। बल्कि अत्याधुनिक मशीन भी दी। दूसरी ओर टेराकोटा शिल्पकारों ने भी डिजाइनर दिए बनाए हैं। कलश के चारों ओर डिजाइनर दीये, हाथी स्टैंड.21 दीयों वाले स्टैंड बना रहे हैं। गौरी गणेश की भी 12 एवं 8 इंच की प्रतिमाएं बना रहे हैं। जंगल एकला नम्बर 2 निवासी शिल्पकार हरिओम आजाद कहते हैं कि मशीन से डिजाइनर दिए बनाए जा रहे हैं। हालांकि ऐसी मशीनों की आवश्यकता और भी है।

गोरखपुर में दीयों एवं मूर्तियों का यह है कारोबार

– 1.50 करोड़ दीये दीपावली पर बिकते हैं जिले में
– 10 लाख गौरी गणेश की प्रतिमाओं की है मांग
– 10000 गौरी-गणेश की प्रतिमाएं टेराकोटा शिल्पकार बना रहे हैं
– 4000 दीये टेराकोटा के डिजाइनर दिए हर दिन बन रहे
– 75000 परम्परागत दीये बनाए जा रहे हर दिन सीएम योगी की सरकार में मिली सुविधा
– 132 इलेक्ट्रिक चाक का वितरण किया
– 10 जोड़ी डाई गौरी गणेश की प्रदान की गई
– 10 मिट्टी गूथने की पगमील का वितरण किया गया
– 02 मशीन डिजाइनर दिए बनाने के लिए दी गई

कल मिलेंगे 132 चॉक

जिला खादी एवं ग्रामोद्योग अधिकारी एनपी मौर्य कहते हैं कि 29 अक्तूबर को माटी कला बोर्ड के कलाकारों को 132 इलेक्ट्रिक चॉक वितरण किया जाएगा। कार्यक्रम का विभागीय प्रशिक्षण केंद्र खजनी में होगा जिसमें उत्तर प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के सदस्य लल्लन तिवारी अध्यक्षता करेंगे। खजनी विधानसभा के विधायक संत प्रसाद मुख्य अतिथि होंगे। ब्लाक प्रमुख खजनी विकास सिंह विशिष्ठ अतिथि होंगे।

loading...