काशी में PM Modi ने कहा- मुझे मां गंगा ने गोद लिया, तीसरी बार चुना जाना ऐतिहासिक

47
pm-modi-said-getting-

नई दिल्लीः वाराणसी से तीसरी बार लोकसभा चुनाव जीतने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) मंगलवार को काशी पहुंचे। उन्होंने देशभर के किसानों के खातों में पीएम किसान सम्मान निधि की 17वीं किस्त जारी की। इसके बाद उन्होंने काशी की जनता का आभार जताया। प्रधानमंत्री मंगलवार को वाराणसी में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि चुनाव जीतने के बाद मैं पहली बार काशी आया हूं।

बाबा विश्वनाथ, मां गंगा और काशी की जनता के आशीर्वाद से मुझे तीसरी बार देश का प्रधान सेवक बनने का मौका मिला है। काशी की जनता ने मुझे जिताकर आशीर्वाद दिया है। ऐसा लगता है कि अब मां गंगा ने भी मुझे अपना लिया है और मैं भी इन्हीं लोगों में से एक हो गया हूं। मैं आपका आभारी हूं। उन्होंने कहा कि इस बार देश के चुनाव ने एक नया इतिहास रच दिया है।

दिन-रात मेहनत का दिया भरोसा

दुनिया के लोकतांत्रिक इतिहास में यह पहली बार हुआ है कि लगातार तीसरी बार कोई सरकार चुनी गई है। यह भारत की जनता ने किया है। उन्होंने देशवासियों को भरोसा दिलाया कि वह इसी तरह दिन-रात मेहनत करेंगे और लोगों के सपनों और संकल्पों को पूरा करने का हर संभव प्रयास करेंगे। तीसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने के बाद अपने पहले सार्वजनिक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण के माध्यम से पीएम किसान सम्मान निधि (पीएम-किसान) के तहत लगभग 9.26 करोड़ लाभार्थी किसानों को 20,000 करोड़ रुपये से अधिक की 17वीं किस्त जारी की। अब तक पीएम-किसान योजना के तहत 11 करोड़ से अधिक पात्र किसान परिवारों को 3.04 लाख करोड़ रुपये से अधिक का लाभ मिल चुका है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पीएम किसान सम्मान निधि दुनिया की सबसे बड़ी प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण योजना बन गई है। उन्होंने कहा कि हम देश को पैकेज्ड फूड के वैश्विक बाजार में नई ऊंचाइयों पर ले जा रहे हैं। उनका सपना है कि दुनिया के हर खाने की मेज पर भारत का कोई न कोई अनाज या फल उत्पाद हो।

कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने स्वयं सहायता समूहों की 30 हजार से अधिक कृषि सखी महिलाओं को प्रमाण पत्र प्रदान किए। कृषि सखी कन्वर्जेंस कार्यक्रम (केएससीपी) का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण महिलाओं को कृषि सखी के रूप में सशक्त बनाकर तथा कृषि सखी महिलाओं को पैरा-एक्सटेंशन वर्कर के रूप में प्रशिक्षण एवं प्रमाणन प्रदान करके ग्रामीण भारत की सूरत बदलना है। यह प्रमाणन पाठ्यक्रम “लखपति दीदी” कार्यक्रम के उद्देश्यों के अनुरूप भी है।

काशी की जनता ने तीसरी बार दिया आशीर्वादः पीएम मोदी

कृषि सखी के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि अभी 12 राज्यों में यह योजना शुरू की गई है। आने वाले समय में देशभर में हजारों समूहों को इससे जोड़ा जाएगा। आज 3 करोड़ बहनों को लखपति बनाने की दिशा में एक बड़ा कदम उठाया गया है। कृषि सखी के रूप में बहनों की नई भूमिका उन्हें सम्मान और आय के नए साधन दोनों सुनिश्चित करेगी।

काशी से अपने रिश्ते के बारे में बात करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उन्हें ऐसा लगता है जैसे मां गंगा ने उन्हें गोद ले लिया है। वे यहां के हो गए हैं। उन्होंने कहा कि बाबा विश्वनाथ और मां गंगा के आशीर्वाद और काशीवासियों के अपार स्नेह से मुझे तीसरी बार देश का प्रधान सेवक बनने का सौभाग्य मिला है। काशी की जनता ने मुझे लगातार तीसरी बार अपना प्रतिनिधि चुनकर आशीर्वाद दिया है।

उन्होंने कहा कि काशी ने पूरी दुनिया को दिखा दिया है कि एक हेरिटेज शहर भी शहरी विकास की नई इबारत लिख सकता है। काशी में विकास और हेरिटेज का मंत्र भी हर जगह दिखाई देता है। पिछले 10 वर्षों में केंद्र सरकार और राज्य सरकार ने काशी के किसानों के लिए पूरे समर्पण के साथ काम किया है।

यह भी पढ़ेंः-हनुमान बेनीवाल ने विधायक पद से दिया इस्तीफा, EVM को लेकर कही ये बात

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने अपने तीसरे कार्यकाल की शुरुआत किसानों, युवाओं, नारी शक्ति और गरीबों के सशक्तिकरण के साथ की है। सरकार बनते ही देश में गरीब परिवारों के लिए 3 करोड़ नए घर, पीएम किसान सम्मान निधि और अन्य फैसले लिए गए।