PM Modi Austria Visit: ‘यह युद्ध का समय नहीं’….ऑस्ट्रिया में PM मोदी ने फिर दोहराया शांति संदेश

49
pm-modi-austria-visit

PM Modi Austria Visit, नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) दो दिवसीय ऑस्ट्रिया यात्रा पर है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ऑस्ट्रियाई चांसलर कार्ल नेहमर के बीच बुधवार को प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता हुई। इसमें द्विपक्षीय साझेदारी के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा हुई।

दोनों नेताओं ने आपसी हितों के क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रणधीर जायसवाल ने बताया कि वार्ता के दौरान व्यापार और हरित ऊर्जा, एआई, स्टार्ट-अप, निवेश, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन, सांस्कृतिक सहयोग और लोगों के बीच संबंधों से जुड़े विषयों पर चर्चा हुई।

PM Modi Austria Visit: पीएम मोदी ने इन मुद्दों पर की चर्चा

बता दें कि इससे पहले द्विपक्षीय संबंधों में नया इतिहास रचते हुए प्रधानमंत्री का ऑस्ट्रिया की चांसलर ने गर्मजोशी से स्वागत किया। किसी भारतीय प्रधानमंत्री की ऑस्ट्रिया की यह ऐतिहासिक यात्रा 4 दशक बाद हो रही है। इस दौरान दोनों नेताओं ने संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि दोनों देश संयुक्त राष्ट्र और अन्य अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं में सुधार पर सहमत हैं ताकि उन्हें समसामयिक और प्रभावी बनाया जा सके। दोनों देश आतंकवाद की कड़ी निंदा करते हैं और इस बात पर सहमत हैं कि इसे किसी भी रूप में स्वीकार और उचित नहीं ठहराया जा सकता।

ये भी पढ़ेंः-PM Modi Austria Visit: रूस के बाद ‘मोदीमय’ हुआ ऑस्ट्रिया…’वंदे मातरम’ की धुन पर हुआ भव्य स्वागत

पीएम मोदी ने कहा कि आज मेरे और चांसलर नेहमर के बीच बहुत सार्थक बातचीत हुई। हमने आपसी सहयोग को और मजबूत करने के लिए नई संभावनाओं की पहचान की है। हमने तय किया है कि रिश्तों को रणनीतिक दिशा दी जाएगी। हम दोनों आतंकवाद की कड़ी निंदा करते हैं। हम इस बात पर सहमत हैं कि यह किसी भी रूप में स्वीकार्य नहीं है। इसे किसी भी तरह से उचित नहीं ठहराया जा सकता।

‘यह युद्ध का समय नहीं-पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि मैंने और चांसलर नेहमर ने दुनिया में चल रहे सभी विवादों पर विस्तार से बात की है, चाहे वह यूक्रेन में संघर्ष हो या पश्चिम एशिया की स्थिति। मैंने पहले भी कहा है कि यह युद्ध का समय नहीं है। हमने दुनिया में चल रहे विवादों पर बात की। हमने यूक्रेन के बारे में भी बात की है। हमने शांति और स्थिरता के लिए बात की है।

हम शांति के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। जलवायु और आतंकवाद भी महत्वपूर्ण मुद्दे हैं। प्रधानमंत्री ने सहमति के बिंदुओं पर जानकारी देते हुए कहा कि दोनों देशों ने आपसी सहयोग को और मजबूत करने के लिए नई संभावनाओं की पहचान की है। साथ ही संबंधों को रणनीतिक दिशा दी जाएगी।

ऑस्ट्रिया में होगा भारतीय निवेश-नेहमर

ऑस्ट्रियाई चांसलर कार्ल नेहमर ने कहा कि विश्व अर्थव्यवस्था चुनौतीपूर्ण दौर से गुजर रही है। ऐसे में निर्यातोन्मुखी अर्थव्यवस्था वाले ऑस्ट्रिया के लिए नए आर्थिक सहयोग की तलाश करना विशेष रूप से महत्वपूर्ण है। आज उनके देश के भारत के साथ पहले से कहीं बेहतर आर्थिक और व्यापारिक संबंध हैं।

जो आपसी विश्वास और भरोसे को दर्शाता है। वर्तमान में दोनों देशों के बीच 2.7 बिलियन यूरो का व्यापार होता है। भारत में 150 से अधिक ऑस्ट्रियाई व्यवसाय काम कर रहे हैं। हमें उम्मीद है कि यह संख्या बढ़ेगी। ऑस्ट्रिया में भारतीय निवेश भी होगा।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)