पेगासस विवाद: सीएम मनोहर लाल ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- जासूसी करवाना कांग्रेस का कल्चर

चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फोन टैपिंग के मुद्दे पर आज विपक्षी दल कांग्रेस को घेरते हुए कहा है कि फोन टैपिंग करवाना कांग्रेस की पुरानी परंपरा है। कांग्रेस ने फोन टैपिंग करके केंद्र में सरकारों को गिराने का काम किया है। बुधवार को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि कांग्रेस विदेशी ताकतों के साथ मिलकर देश की प्रतिष्ठा को धूमिल कर रही है।

हरियाणा में कांग्रेस ने फोन टैपिंग को मुद्दा बनाते हुए गुरुवार को चंडीगढ़ में विरोध प्रदर्शन का ऐलान किया है। इससे पहले ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फ्रंट पर आकर कांग्रेस को घेर लिया। उन्होंने कहा कि इस बार लोकसभा के मानसून सत्र में युवाओं, महिलाओं, किसानों व पिछड़े वर्ग सहित कई वर्गों के लिए कई नई योजनाओं पर चर्चा होनी थी लेकिन कांग्रेस षड्यंत्र के तहत अवरोध पैदा कर रही है।

यह भी पढ़ें- जिला अस्पताल में तीन बच्चों की मौत पर परिजनों ने किया हंगामा, डॉक्टरों पर लापरवाही का आरोप

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस विदेशी ताकतों के साथ मिलकर देश की छवि खराब करने की साजिश रच रही है। सीएम ने कहा कि जिस कंपनी ने यह दावा किया है, उसकी मदर कंपनी एनएसओ है। इसी के माध्यम से जासूसी और फोन टेपिंग के आरोप लग रहे हैं। उस संस्था की कोई विश्वसनीयता नहीं है। यह एजेंसी 2018 से ऐसे काम कर रही है। भारत में जब आई तो केंद्र सरकार ने इससे सोर्स ऑफ फंडिंग के बारे में पूछा। संस्था यह बताने की बजाय यहां से भाग खड़ी हुई।

उन्होंने कहा कि फोन टेप करना और अपने विरोधियों की जासूसी करवाना कांग्रेस का कल्चर रहा है। कांग्रेस अपने कार्यकाल में ऐसा करती रही है। यूपीए सरकार के समय नौ हजार लोगों के फोन टेप होने की जानकारी देते हुए सीएम ने कहा कि अपने विरोधियों की जासूसी करवाना कांग्रेस का कल्चर रहा है। ऐसे में कांग्रेस को लगता है कि जैसा वे सरकार में रहते हुए करते थे, ऐसे सभी सरकारें करती होंगी।

सीएम ने कहा कि यूपीए सरकार के समय कांग्रेस के वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी ने अपनी ही सरकार के गृह मंत्री पी.चिदंबरम पर फोन टेप करवाने के गंभीर आरोप लगाए थे। कांग्रेस ने ही दो जासूसों की कहानी बताकर चंद्रशेखर की सरकार गिराई थी। इस मौके पर हरियाणा के सीआईडी चीफ आलोक मित्तल भी प्रेस कांफ्रेंस में सीएम के साथ मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि सीआईडी सरकार की एजेंसी है और उनके पास सरकार से भी अधिक इनपुट होते हैं।