देश

मिसाल! ब्रेन डेड युवक के अंगदान से चार लोगों को मिला नया जीवन

dil

अहमदाबादः झारखंड के मूल निवासी और सूरत में ओएनजीसी में सुरक्षा गार्ड के पद पर कार्यरत ब्रेनडेड शैलेश हरिहर सिंह के परिवार के लोगों ने उनके अंगों को दान कर अन्य चार लोगों को नई जिंदगी दी है।

शैलेश सिंह को एक सड़क दुर्घटना में सिर में गंभीर चोट लगने के बाद 9 जुलाई को सूरत के न्यू सिविल अस्पताल और बाद में सनशाइन ग्लोबल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कुछ दिनों के इलाज के बाद 16 जुलाई को डॉक्टरों ने उन्हें ब्रेन डेड घोषित कर दिया और उनकी पत्नी सीमा और उनके भाइयों ने शैलेश सिंह के अंगों को दान करने का फैसला किया। डोनेट लाइफ के जरिए शैलेश सिंह का दिल, दो किडनी और एक लीवर डोनेट किया गया, जिसके जरिए चार जरूरतमंद मरीजों को नई जिंदगी मिल गई।

सूरत से अहमदाबाद की 285 किमी की दूरी महज 80 मिनट में कवर की गई और जामखंभालिया निवासी 22 वर्षीय मरीज को अहमदाबाद के सिम्स अस्पताल में हृदय प्रत्यारोपित किया गया। यह युवक पिछले दो साल से हृदय रोग से पीड़ित था और पिछले तीन महीनों में उसकी हृदय की पंपिंग 5% से 10% रह गई थी।

राजकोट निवासी 41 वर्षीय व्यक्ति ने अहमदाबाद के किडनी डिजीज एंड रिसर्च सेंटर (IKDRC) अस्पताल में लीवर ट्रांसप्लांट कराया। दान की गई दो किडनी में से एक अहमदाबाद (IKDRC) में एक मरीज को ट्रांसप्लांट की गई और दूसरी किडनी अहमदाबाद के केडी अस्पताल में एक अन्य मरीज को ट्रांसप्लांट की गई। इस तरह किडनी की समस्या से पीड़ित इन दो मरीजों को अस्पताल में नया जीवन मिला ।

यह भी पढ़ेंः-लखनऊ जंक्शन और चारबाग रेलवे स्टेशन की सुरक्षा के लिए नया खाका तैयार

अहमदाबाद में हार्ट, किडनी और लीवर को समय पर पहुंचाने के लिए दो ग्रीन कॉरिडोर बनाए गए। इस कार्य में सूरत शहर पुलिस के साथ-साथ राज्य के विभिन्न शहर और ग्रामीण पुलिस का सहयोग मिला।