Tuesday, June 18, 2024
spot_img
Homeछत्तीसगढ़One Station One Product: अब स्टेशनों पर मिलेंगे हस्तशिल्प उत्पाद, लगे 50...

One Station One Product: अब स्टेशनों पर मिलेंगे हस्तशिल्प उत्पाद, लगे 50 स्टाॅल

One Station One Product scheme in CG: रेलवे ने वोकल फॉर लोकल विजन को बढ़ावा देने के लिए वन स्टेशन वन प्रोडक्ट योजना शुरू की है। रेलवे की व्यापक पहुंच और महत्व को ध्यान में रखते हुए दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के विभिन्न स्टेशनों पर स्थानीय कपड़ा, हस्तशिल्प, मिट्टी के उत्पाद, हथकरघा, बांस उत्पाद, वन उपज आदि को बेहतर मंच प्रदान करने के उद्देश्य से यह योजना बनाई गई है।

बिलासपुर रेलवे प्रबंधन द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक यह व्यवस्था स्थानीय उत्पादों को नाममात्र शुल्क के साथ 15-15 दिनों के लिए उपलब्ध कराई जा रही है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में “एक स्टेशन एक उत्पाद” योजना के 46 स्टेशनों पर लगभग 50 स्टॉल लगाए गए हैं। इसमें स्थानीय स्तर पर निर्मित एवं प्रसिद्ध वस्तुओं की बिक्री शुरू कर दी गई है।

इन स्टेशनों पर लगे स्टाॅल

बिलासपुर रेल मंडल के अंतर्गत 15 स्टेशन हैं – बिलासपुर, अनुपपुर, चांपा, कोरबा, पेंड्रा रोड, रायगढ़, शहडोल, सक्ती, नैला, उसलापुर, अंबिकापुर, बुढ़ार और बिश्रामपुर स्टेशन। रायपुर रेल मंडल के अंतर्गत 15 स्टेशन हैं – रायपुर, दुर्ग, भिलाई पावर हाउस, मरोदा, दल्लीराजहरा, भाटापारा, बिल्हा, निपनिया, हथबंध, सिलयारी, उरकुरा, तिल्दा, भिलाई नगर, मंदिर हसौद, बालोद और भानुप्रतापपुर स्टेशन।

ये भी पढ़ें: Raipur: श्रीराम के ननिहाल से डाॅक्टरों की टीम अयोध्या रवाना, धर्मस्व मंत्री ने दिखाई हरी झंडी

मिलेंगे मशहूर हस्तशिल्प उत्पाद

बिलासपुर स्टेशन में हर्बल चिकित्सा और हस्तशिल्प उत्पाद, कोरबा में पैरा कला, रायगढ़ में हर्बल उत्पाद, अनुपपुर में आदिवासी कला, शहडोल में शहद, अंबिकापुर में हर्बल चिकित्सा, दुर्ग में घर में बनी बरी, पापड़, अचार, रायपुर में घर में बने सजावटी सामान, डोंगरगढ़ में होम मेड मशाला, राजनांदगांव में बाजरा, गोंदिया में बांस कला आदि स्थानीय उत्पादों के आउटलेट स्थापित किये गये हैं।

एनआईटी ने तैयार किए डिजाइन

इसके लिए कियोस्क स्टॉल का निर्माण नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ डिजाइन, अहमदाबाद द्वारा किया गया है। रेलवे अपने खर्च पर स्टेशन पर कियोस्क लगाएगा। कियोस्क पंद्रह दिन के लिए निर्माता को दिया जाएगा। रेलवे के इतिहास में यह पहली बार होगा कि कियोस्क लगाने के लिए लोगों से आवेदन लिया जा रहा है। कियोस्क की संरचना रेलवे द्वारा प्रदान की जाएगी, जबकि जिन लोगों को यह आवंटित किया जाएगा वे इसमें सामान रख सकेंगे और बेच सकेंगे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)

- Advertisment -spot_imgspot_img

सम्बंधित खबरें