Nepal: 100 किलो सोने की तस्करी में कई भारतीय एजेंट गिरफ्तार, कई ठिकानों पर मारा था छापा

31
one-quintal-gold-smuggling-case

Kathmandu : काठमांडू Nepal पुलिस ने पिछले साल चीन से नेपाल के रास्ते भारत में 300 किलो सोना तस्करी के मामले में कई भारतीय एजेंटों को गिरफ्तार किया है। नेपाल पुलिस के केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने अदालत को सोना तस्करी मामले में भारतीय एजेंटों की गिरफ्तारी की जानकारी दी है।

आरोप पत्र में दी गई पूरी जानकारी 

इसे मोटरसाइकिल के ब्रेक शू में हांगकांग से विमान द्वारा काठमांडू लाया गया था। बाद में सूचना के आधार पर पुलिस ने कई जगहों पर छापेमारी कर एक क्विंटल सोना बरामद किया था। उस समय पुलिस ने बताया था कि बरामद सोना नेपाल के रास्ते भारत भेजे जाने की तैयारी की जा रही थी। सीआइबी द्वारा इस मामले में विशेष अदालत में पेश पूरक आरोपपत्र के अनुसार जानकारी दी गई है कि भारत से तस्करी का सोना लेने नेपाल आए भारतीय एजेंटों को गिरफ्तार कर सीआइबी की हिरासत में रखा गया है।

आरोपपत्र में दी गई जानकारी के अनुसार गिरफ्तार लोगों में महाराष्ट्र के जलगांव निवासी 32 वर्षीय प्रशांत गणेश बाजवलकर, मुंबई निवासी अशोक गायकवाड़, धीरज निदेश बाटे, कोलकाता निवासी श्रीधर मजूमदार और अवनीश अग्रवाल शामिल हैं। हाल ही में सीबीआइ ने कुछ नेपाली नागरिकों की गिरफ्तारी की भी जानकारी दी है। आरोप पत्र के अनुसार, इनमें काभरे निवासी कांचा मान लामा, बीरगंज निवासी सुरेन्द्रमन श्रेष्ठ, धादिंग निवासी प्रेमनाथ सेधाय, उदयपुर निवासी उषा खत्री निरौला और तिब्बती नागरिक गंगा तासी भी शामिल हैं।

यह भी पढ़ेंः- Pakistan: मुख्यमंत्री के सलाहकार का बेटा कर रहा था हथियारों की तस्करी, मचा हड़कंप

अब तक की सबसे बड़ी खेप बरामद

राजस्व अनुसंधान विभाग के महानिदेशक नवराज धुंगाना ने बताया कि सोने की यह खेप हांगकांग से क्याथे प्यासाफिक जा रही फ्लाइट में स्कूटर के ‘ब्रेक शू’ के कवर में लाई गई थी। नेपाल में एक बार में इतनी बड़ी मात्रा में सोना पकड़े जाने की यह पहली घटना है। इससे पहले 2019 में काठमांडू के क्षेत्रपति से चीनी तस्कर द्वारा नेपाल लाए गए 88 किलो सोने के साथ वाहन के चालक को गिरफ्तार किया गया था।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)