Dharamshala: 3 मार्च को एक लाख बच्चे पिएंगे दो बूंद जिंदगी की, बने 1070 पोलियो बूथ

20

धर्मशाला (Dharamshala): कांगड़ा जिला में 3 मार्च को 0 से 5 वर्ष तक के एक लाख से अधिक बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी। इस अभियान के सफल क्रियान्वयन के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी तैयारियां कर ली गई हैं। जिसके तहत शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 1070 पोलियो बूथ स्थापित किये गये हैं।

इसके अलावा 21 पारगमन बिंदुओं और 173 उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों जैसे मलिन बस्तियों, ईंट भट्टों, निर्माण स्थलों, क्रशर पर काम करने वाले श्रमिकों और प्रवासी परिवारों के बच्चों को दवाएं उपलब्ध कराने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

घर-घर जाकर सर्वेक्षण करेंगे स्वास्थ्य कर्मी

यह जानकारी जिलाधीश कांगड़ा हेमराज बैरवा ने बुधवार को राष्ट्रीय नवीकरणीय रोग उन्मूलन समिति, सघन पल्स पोलियो अभियान, गहन डायरिया रोग नियंत्रण पखवाड़ा तथा स्कूल स्वास्थ्य एवं आरोग्य कार्यक्रम की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दी। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास रहेगा कि कोई भी बच्चा वंचित न रहे। पोलियो बूथ पर सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक बच्चों को दवा पिलाई जाएगी तथा 4 व 5 मार्च को स्वास्थ्य कर्मी घर-घर जाकर सर्वेक्षण करेंगे। यदि कोई बच्चा छूट गया है तो उसे दवा दी जाएगी।

ये भी पढ़ें..Himachal: बजट पर चर्चा के दौरान गरमाया सदन, सीएम बोले- हिमाचल के हितों से समझौता नहीं

14 मार्च से मनाया जायेगा डायरिया पखवाड़ा

उन्होंने कहा कि 14 मार्च से सघन डायरिया पखवाड़ा मनाया जायेगा, जिसके तहत आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों को दो पैकेट ओआरएस और 14 जिंक की गोलियां देंगी, जो डायरिया के दौरान बच्चों को दी जाती है। आज भी बच्चों में डायरिया एक घातक बीमारी है, इसे रोकने और लोगों को जागरूक करने के लिए यह अभियान चलाया जाता है, साथ ही इस अभियान के तहत सभी स्कूलों और बाकी जनता को हाथ धोने का सही तरीका और ओआरएस घोल बनाने की विधि भी समझाई जाती है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)