मकर संक्रांति पर इन चीजों के दान से चमकेगा भविष्य का सूर्य

211

नई दिल्ली: भगवान सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करने पर मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है। मकर संक्रांति के दिन स्नानादि के बाद दान करने का विधान है। ऐसा माना जाता है कि मकर संक्रांति के दिन दान करने से आपके भविष्य का सूर्य भी दोगुनी तेजी के साथ चमकना शुरू हो जाता है। सूर्य की इस संक्रांति का असर विभिन्न राशियों पर पड़ता है।

यह परिवर्तन विभिन्न राशियों के लिए बहुत ही शुभ योग लेकर आया है। सूर्य के मकर राशि में प्रवेश का विभिन्न राशियों पर भी असर पड़ता है। मकर संक्रांति पर खिचड़ी दान करने का विशेष महत्व है। खिचड़ी के अलावा भी आप वस्त्रों का भी दान दे सकते हैं। लेकिन दान देने वाले को इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि दान में दी जाने वाली चीजें जैसे तिल, गुड़ या वस्त्र पुरानी न हो। मकर संक्रांति पर आप अलग-अलग चीजों का दान देकर शुभ फल प्राप्त कर सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः-भाजपा का आरोप, मुख्तार को संरक्षण देकर अराजकता को बढ़ावा दे रही कांग्रेस

मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी का दान करने से घर में सुख और शांति का वास होता है। वहीं जिन लोगों पर शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव होता है, उन्हें काले तिल तांबे के पात्र में भरकर किसी निर्धन व्यक्ति को दान करना चाहिए। यदि आपके घर का कोई सदस्य बीमार है तो आपकों मकर संक्रांति के दिन नए वस्त्रों का दान करें। मकर संक्रांति के दिन सात तरह के अनाज का दान देने मां अन्नपूर्णा की कृपा बनी रहती है। मकर संक्रांति के दिन चावल, दूध और दही का भी दान किया जा सकता है इससे आपके घर में धन-संपदा की कमी नही होगी।