अब घर बैठे बन सकेंगे चरित्र प्रमाण पत्र, नहीं काटने पड़ेंगे थाने के चक्कर

पटना: बिहार में अब आपको चरित्र प्रमाण पत्र यानी कैरेक्टर सर्टिफिकेट बनाने के लिए पुलिस थानों के चक्कर नहीं लगाने होंगे। घर बैठे ही अब आपके चरित्र प्रमाण पत्र न केवल बन जाएंगे बल्कि उसकी डिजिटल कॉपी भी आप तक पहुंच जाएगी। अपर पुलिस महानिदेशक (एडीजी) (आधुनिकीकरण) कमल किशोर सिंह ने बताया कि अब लोग घर बैठे ही चरित्र प्रमाण पत्र के लिए आवेदन भी कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि गृह विभाग पिछले कई सप्ताह से इस व्यवस्था का ट्रायल कर रहा था जो सफल रहा है।

उन्होंने कहा कि इसकी शुरूआत अगले महीने प्रारंभ हो जाएगी और इच्छुक सभी लोगों के चरित्र प्रमाण पत्र आनलाइन उपलब्ध होने लगेंगे। उन्होंने बताया कि चरित्र प्रमाण पत्र बनाने की आनलाइन व्यवस्था की मानीटरिंग पुलिस महानिरीक्षक (IG) और पुलिस उपमहानिरीक्षक (DIG) के स्तर से की जाएगी।

उन्होंने बताया कि इसका ट्रायल राज्य के अरवल, पश्चिम चंपारण, भागलपुर, दरभंगा, गया, मुंगेर, मुजफ्फरपुर, पूर्णिया, सारण और सहरसा जिलों में किया गया था। प्रारंभ में जो भी कमियां थीं, उसे दूर कर लिया गया है।

यह भी पढ़ेंः-सीजीएसटी अधिकारियों ने 134 करोड़ रुपये की टैक्स धोखाधड़ी का किया भंडाफोड़

आनलाइन चरित्र प्रमाण पत्र बनाने के लिए एनआईसी (राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र) की मदद से सर्विस प्लस पोर्टल बनाया गया है। 25 अक्टूबर तक थाना स्तर से जुड़े डाटा जिला पुलिस आीक्षक, पुलिस मुख्यालय व विभाग स्तर पर मानीटरिंग के लिए उपलब कराने को कहा गया है। बताया गया कि आवेदक को यहां आनलाइन उपलब्ध फार्म भरने के बाद बिहार लोक सेवा के अधिकार के तहत 14 दिनों में चरित्र प्रमाण पत्र की आनलाइन कापी मिल जाएगी।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)