नीतीश मंत्रिमंडल विस्तार शीघ्र, शाहनवाज हुसैन को मिल सकता है अहम महकमा

85

पटनाः जदयू और भाजपा के बीच मंत्रियों की संख्या को लेकर जारी अटकलों के बीच बिहार में नीतीश कुमार की अगुवाई में एनडीए सरकार में मंत्रिमंडल विस्तार की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। इस संबंध में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पहले ही कह चुके हैं कि मंत्रिमंडल का विस्तार जल्द होगा। संभावना है कि एक से दो दिनों में नीतीश कुमार मंत्रिमंडल का विस्तार हो सकता है। मंत्रिमंडल विस्तार होने तक संख्या को लेकर कयासों का दौर जारी रहेगा। मंत्रिमंडल विस्तार की चर्चाओं के बीच संभावित मंत्रियों के नाम भी फिजां में तैरने लगे हैं। इनमें सबसे ऊपर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता और विधान परिषद सदस्य बनने जा रहे सैयद शाहनवाज हुसैन का नाम है। भाजपा कोटे से इनका मंत्री बनना तय माना जा रहा है। इन्हें गृह विभाग की अहम जिम्मेदारी मिलने की भी चर्चा है।

यह भी पढ़ें-चेन्नई में 26 जनवरी तक जुटेंगे भारतीय खिलाड़ी, देखें पूरा शेड्यूल

अब तक जदयू फार्मूले के अनुसार ही इस बार भी एनडीए के घटक दलों को उसके विधायकों की तय संख्या के अनुसार मंत्रिमंडल में जगह दी जाएगी। ऐसे में भाजपा सूत्रों की मानें तो मंत्रिमंडल में भाजपा के हिस्से में 22 तो जदयू को 14 मंत्री पद मिल सकते हैं। हम और वीआईपी को क्रमशः जदयू और भाजपा अपने-अपने कोटे से मंत्री पद देंगे। अभी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को छोड़कर कुल 13 मंत्री हैं। इनमें जदयू से चार, भाजपा कोटे से सात जबकि हम व वीआईपी कोटे से एक-एक मंत्री शामिल हैं। वहीं, एक चर्चा यह भी है कि मंत्रिमंडल में जदयू को 16, भाजपा को 18 और हम व वीआईपी के हिस्से में एक-एक मंत्री होंगे। गौरतलब है कि मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सांसद डॉ. संजय जायसवाल और संगठन महामंत्री नागेन्द्र दिल्ली गए थे। ऐसा अंदेशा जताया जा रहा है कि आज भाजपा कोटे से मंत्री बनने वालों के नाम तय हो जाएंगे। जदयू और भाजपा, दोनों ही खेमो में संभावित मंत्रियों में कुछ नए तो कुछ पुराने चेहरों के नाम सामने आ रहे हैं।

जदयू कोटे से जिनके मंत्री बनने की चर्चा है उनमें श्रवण कुमार, सुधांशु शेखर, महेश्वर हजारी, मदन सहनी, बीमा भारती, दामोदर रावत, सुनील कुमार, लेसी सिंह, शालिनी मिश्रा, सुमित कुमार और नीरज कुमार के नाम सामने आ रहे हैं। जबकि भाजपा कोटे से संभावित मंत्रियों में सैयद शाहनवाज के अलावा संजीव चैरसिया, नितिन नवीन, राणा रणधीर सिंह, प्रमोद कुमार, भागीरथी देवी, नीतीश मिश्रा, रामप्रवेश राय के नाम चर्चा में हैं।