NDA Meeting: एनडीए की बड़ी बैठक आज, PM मोदी को चुना जाएगा संसदीय दल का नेता

27
nda-meeting-live-updates-bjp-tdp-jdu-nitish-kumar-chandrababu

NDA Meeting, नई दिल्लीः भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेतृत्व वाली एनडीए की शुक्रवार (7 जून) को बड़ी बैठक होने वाली है। संसद भवन परिसर में सुबह 11 बजे सभी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) सांसदों की बैठक होनी है, जिसमें औपचारिक तौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लगातार तीसरी बार एनडीए संसदीय दल के नेता चुने जाएंगे। बैठक में भाजपा और गठबंधन दलों के सभी सांसद शामिल होंगे।

बैठक में NDA के तमाम नेता होंगे शामिल

इस बैठक में भाजपा और गठबंधन दलों के सांसदों के साथ एनडीए गठबंधन दलों के प्रमुख, भाजपा शासित सभी राज्यों के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री, विभिन्न राज्यों के भाजपा नेता जो विधानसभा में विपक्ष के नेता हैं और भाजपा के कई अन्य बड़े नेता भी शामिल हो सकते हैं। इससे पहले भाजपा के कई सहयोगी दल अपने सांसदों के साथ अलग-अलग बैठक करेंगे और इसके बाद सभी एनडीए की बैठक के लिए संसद भवन रवाना होंगे।

राष्ट्रपति के सामने सरकार बनाने का पेश करेंगे दावा 

एनडीए नेता आज राष्ट्रपति भवन भी जाएंगे और राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के सामने सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। सूत्रों की मानें तो बुधवार को पीएम आवास पर एनडीए नेताओं की बैठक में सर्वसम्मति से नरेंद्र मोदी को एनडीए का नेता चुने जाने के बाद कई अन्य सांसद भी भाजपा के संपर्क में आ गए हैं। बताया जा रहा है कि कई निर्दलीय सांसदों के अलावा कुछ छोटे दलों से भी बातचीत अंतिम चरण में पहुंच गई है। पूरी संभावना है कि लोकसभा चुनाव में 293 सीटें जीतने वाले एनडीए नेता तीन सौ से अधिक सांसदों के समर्थन से राष्ट्रपति के समक्ष सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं।

ये भी पढ़ेंः- हैट्रिक ही नहीं आंकड़ों में भी अव्वल भाजपा, तीन दशक में कोई भी पार्टी अकेले नहीं जीत सकी 240 सीटें

9 जून को हो सकता है शपथ ग्रहण 

सूत्रों ने बताया कि शपथ ग्रहण समारोह 9 जून की शाम को हो सकता है, हालांकि अभी इस बारे में औपचारिक घोषणा नहीं की गई है। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के कई लाभार्थी, ‘विकसित भारत’ के ब्रांड एंबेसडर, सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट में काम करने वाले कर्मी, वंदे भारत ट्रेन और ऐसी कई अन्य परियोजनाओं से जुड़े कर्मी, ट्रांसजेंडर, सफाई कर्मी, स्वास्थ्य विभाग से जुड़े कर्मचारी भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हो सकते हैं। नेपाल, भूटान, बांग्लादेश, मालदीव और श्रीलंका समेत कई अन्य देशों के राष्ट्राध्यक्ष और बड़े नेता भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल हो सकते हैं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)