National Tourism Day 2023: आज है राष्ट्रीय पर्यटन दिवस, जानें कैसे हुई इस दिन की शुरुआत

national-tourism-day

नई दिल्लीः सैर-सपाटा करना भला किसे पसंद नहीं होगा। कामकाज व डेली रूटिन से एक छोटा ब्रेक दिल व दिमाग को तरोताजा करने के लिए काफी होता है। डाॅक्टर्स भी कहते हैं कि समय-समय पर ब्रेक लेना चाहिए, जिससे आपका मेंटल हेल्थ दुरुस्त रहता है और आप दोगुनी जोश व ऊर्जा से अपने काम पर लौटते हैं।

पर्यटन जितना जरूरी स्वास्थ्य व मनोरंजन के लिए है, उतना ही अर्थव्यवस्था के लिए भी है। पर्यटन को बढ़ावा मिलने से इससे जुड़े कारोबारियों को भी रोजगार मिलेगा व देश की अर्थव्यवस्था भी सुदृढ़ होगी। लोगों को पर्यटन का महत्व बताने के उद्देश्य से हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय पर्यटन दिवस मनाया जाता है। हर साल सरकार की ओर से इस दिन के लिए एक खास विषय निर्धारित किया जाता है, वहीं देश के तमाम हिस्सों में राज्य सरकारों व संस्थाओं द्वारा पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं।

ये भी पढ़ें..Republic Day 2023: फुल ड्रेस रिहर्सल के साथ गणतंत्र दिवस की तैयारियां पूरी, उपायुक्त ने ली सलामी

कैसे हुई शुरुआत –

भारत की आजादी के बाद 1948 में पर्यटन यातायात समिति का गठन किया गया। इसके बाद 1951 में कोलकाता व चेन्नई में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए क्षेत्रिय कार्यालय खोले गए। देश में पर्यटन के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय पर्यटन दिवस मनाया जाता है, जबकि विश्व पर्यटन दिवस 27 सितंबर को मनाया जाता है।
पिछले साल की थीम – राष्ट्रीय पर्यटन दिवस पर हर साल अलग थीम की घोषणा पर्यटन मंत्रालय द्वारा की जाती है। पिछले साल 2022 की राष्ट्रीय पर्यटन दिवस की थीम थी- ‘ग्रामीण और सामुदायिक केंद्रित पर्यटन’।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)