रहस्यमय तरीके से कब्रिस्तान से गायब हो रहे शव, पुलिस मामले की तफ्तीश में जुटी

जयपुरः राजस्थान के बीकानेर जिले के खाजूवाला थाना इलाके में रहस्यमय तरीके से कब्रिस्तान से शवों के गायब होने का मामला सामने आया है। खास बात यह है कि सिर्फ बच्चियों के शव के साथ ऐसा हुआ है। आशंका जताई जा रही है कि तंत्र-मंत्र करने के लिए कब्रिस्तान से शव निकाले जा रहे हैं। पूरा मामला खाजूवाला तहसील के दूरस्थ गांव का है। ग्राम पंचायत सामरदा व सियासर चौगान के बीच स्थित चक 17 केजेड़ी में इस तरह के मामले के खुलासे के बाद पुलिस जांच में जुट गई है।

खाजूवाला पुलिस उपाधीक्षक अंजुम कयाल ने बताया कि 17 केजेडी आबादी में रहने वाले लोगों ने देखा कि कब्रिस्तान में दो कब्रों को खोदा गया है। ऊपर से मिट्टी उठी हुई है। फिर देखते ही देखते समुदाय के लोग मौके पर पहुंच गए। दो कब्रों पर से मिट्टी दो से ढाई फीट खुदी हुई थी। इसकी मिट्टी निकालकर एक तरफ रखी गई थी। ग्राम पंचायत सियासर चौगान के सरपंच खलील खान पड़िहार व डायरेक्टर अब्दुल सत्तार बुहड़ ने पुलिस प्रशासन को सूचना दी। पुलिस ने कब्रों के पास से पदचिन्हों (फुट प्रिंट) को देखकर जांच शुरू की है। पुलिस और ग्रामीणों को आशंका है कि दो मासूमों के शव को तंत्र-मंत्र की क्रिया करने के लिए कब्र से गायब किया गया है।

यह भी पढ़ेंःविवाह समारोह में शामिल हुए 30 से 40 लोग, प्रशासन ने…

3-4 दिन पहले की हरकत
ग्राम पंचायत सामरदा के चक 17 केजेड़ी स्थित कब्रिस्तान से दो बच्चियों के शव तीन-चार दिन पूर्व निकाले गए। अब्दुल सत्तार बुहड़ ने बताया कि दोनों ही शव कम उम्र की लड़कियों के हैं। ग्राम पंचायत सियासर चौगान के सरपंच खलील पड़िहार, डायरेक्टर अब्दुल सत्तार बुहड़, बरकत अली, याकूब खान, रोशन खां, अजमल खां, हनीफ खां, शफीक खां, सनाउल्लाह, सत्तार खान, गफार खां, हाशिम खान, मुमताज खां, आशिक खां, रियाज खां आदि ग्रामीणों ने तांत्रिकों की करामात होने की आशंका जताई। फिलहाल मामला दर्ज कर लिया गया है।