मध्य प्रदेश

MP में चौथे चरण में 8 सीटों पर मतदान, वोटिंग प्रतिशत बढ़ाने के लिए अभियान शुरू

mp-news

भोपाल: मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में सोमवार को आठ संसदीय क्षेत्रों में मतदान होने जा रहा है। वोटिंग प्रतिशत को लेकर राजनीतिक दलों के साथ-साथ चुनाव आयोग भी चिंतित है। इसी कारण मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए अभियान चलाया गया।

इन सीटों पर चुनाव

राज्य में लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में सोमवार को आठ संसदीय क्षेत्रों देवास (एससी), उज्जैन (एससी), मंदसौर, रतलाम (एसटी), धार (एसटी), इंदौर, खरगोन ( एसटी) और खंडवा। पहले दो चरणों में महिलाओं का वोटिंग प्रतिशत चिंताजनक रहा। पहले तीन चरण के मतदान को ध्यान में रखते हुए राजनीतिक दलों से लेकर चुनाव आयोग तक की खास कोशिशें देखने को मिलीं। इसके लिए एक तरफ जहां राजनीतिक दलों से जुड़े कार्यकर्ता घर-घर जाकर मतदाताओं के बीच पहुंच रहे हैं और उन्हें पीले चावल देकर वोट देने के लिए आने की अपील भी कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें-UP Loksabha Chunav 2024: सपा ने मिर्जापुर में बदला प्रत्याशी, रॉबर्ट्सगंज में इस उम्मीदवार पर खेला दांव

वोटिंग प्रतिशत बढ़ाने का चलाया अभियान

वहीं, चुनाव आयोग ने 'बूथ पर जाएं' अभियान भी चलाया और मतदाताओं को मतदान के लिए प्रेरित किया गया। मतदाता पर्चियाँ एवं मतदाता मार्गदर्शिकाएँ भी वितरित की गईं। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में डुगडुगी बजाकर मतदाताओं को मतदान की तिथि व अन्य आवश्यक जानकारी दी गयी।

चौथे चरण में जिन संसदीय क्षेत्रों में मतदान होना है, वे मालवा निमाड़ क्षेत्र में आते हैं। राज्य में पहले दो चरणों के मतदान प्रतिशत पर सवाल खड़े हो गए थे। पहले चरण में जिन छह सीटों पर मतदान हुआ, वहां 2019 के मुकाबले करीब 7।5 फीसदी कम वोट पड़े। इसी तरह दूसरे चरण में भी साल 2019 की तुलना में करीब नौ फीसदी कम मतदान हुआ। तीसरे चरण में मतदान प्रतिशत में जरूर सुधार हुआ। लेकिन, वह भी 2019 की तुलना में थोड़ा कम था।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)