5 साल में लगभग 39 प्रतिशत मोबाइल में होगा 5जी सब्सक्रिप्शन, जाताई जा रही ये उम्मीद

नई दिल्लीः लगभग 500 मिलियन सब्सक्रिप्शन के साथ 5जी भारत में 2027 के अंत तक लगभग 39 प्रतिशत मोबाइल सब्सक्रिप्शन का प्रतिनिधित्व करेगा। मंगलवार को एक रिपोर्ट में इसकी जानकारी दी गई है। एरिक्सन मोबिलिटी रिपोर्ट के लेटेस्ट एडीशन के अनुसार, 4जी सब्सक्रिप्शन के 2027 में अनुमानित 700 मिलियन सब्सक्रिप्शन तक सालाना घटने का अनुमान है क्योंकि सब्सक्राइबर भारत में 5जी की शुरुआत के बाद 5जी में माइग्रेट हो रहे हैं।

एरिक्सन के कार्यकारी उपाध्यक्ष और नेटवर्क के प्रमुख फ्रेड्रिक जेज्डलिंग ने एक बयान में कहा, “लेटेस्ट एरिक्सन मोबिलिटी रिपोर्ट 5जी को अब तक की सबसे तेजी से बढ़ती मोबाइल प्रौद्योगिकी पीढ़ी के रूप में पुष्टि करती है और एरिक्सन इसे बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।”

जेज्डलिंग ने कहा, “हम दुनिया भर में अपने ग्राहकों और पारिस्थितिकी तंत्र भागीदारों के साथ हर दिन काम कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि लाखों और लोग, उद्यम, उद्योग और समाज जल्द से जल्द 5जी कनेक्टिविटी का लाभ उठाएं।” वैश्विक संदर्भ में, 5जी के 2027 तक सभी सब्सक्रिप्शन का लगभग आधा हिस्सा होने का अनुमान है, जो 4.4 बिलियन सब्सक्रिप्शन में सबसे ऊपर है।

रिपोर्ट में इस बात पर प्रकाश डाला गया है कि उत्तरी अमेरिका अगले पांच वर्षों में 5जी सब्सक्रिप्शन पैठ में दुनिया का नेतृत्व करने का अनुमान लगाता है, इस क्षेत्र में हर 10 सब्सक्रिप्शन में से नौ के साथ 2027 तक 5जी होने की उम्मीद है। इसने यह भी भविष्यवाणी की है कि वर्तमान वैश्विक 5जी सदस्यता 2022 के अंत तक एक बिलियन मील का पत्थर पार कर जाएगी।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)