खेतों से जबरन ट्रक निकाल रहे खनन माफिया, पीड़ित किसानों ने डीएम से लगाई गुहार

76

जलौनः उत्तर प्रदेश के जिला जलौन में खनन माफियाओं का आतंक लगातार जारी है। एक तरफ जहां प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ किसानों के उत्थान के लिए तरह-तरह की योजनाएं चला रहे हैं तो वहीं कई जगहों से किसानों के उत्पीड़न की खबरे भी सामने आ रही हैं। ऐसा ही एक मामला जिला जालौन से सामने आया है जहां खनन माफियाओं की हिम्मत इतनी बढ़ गई है कि किसानों के खेतों से जबरन बालू लदे ट्रक निकाल रहे हैं। जिससे उनकी फसलें खराब हो रही हैं।

अपनी इस समस्या को लेकर पीड़ित किसानों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी से न्याय की गुहार लगाई है। कलेक्ट्रेट पहुंचे किसानों ने डीएम को सौंपे शिकायती पत्र के माध्यम से बताया कि कालपी तहसील के पथरेटा में मौरंग खदाने संचालित होती हैं। जहां के खंड संख्या 5 व 6 के ठेकेदारों ने उनके खेतों में जबरन अवैध रास्ता बना लिया है। जिससे वह अपने मौरंग लदे ट्रक निकालते हैं। इतना ही नहीं दबंग खनन माफियाओं ने उनके खेतों से भी मौरंग निकालना शुरू कर दिया है। पीड़ित किसानों जिलाधिकारी से न्याय की गुहार लगाते हुए कार्रवाई की मांग की है।

मालूम हो कि जहां से ये अवैध खदाने संचालित हो रही हैं वहां के खंड संख्या 5 व 6 के मौरंग खदानों में एनजीटी व सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगाई थी। यहां प्रतिबंधित भारी मशीनों से बेतवा नदी में मानक से कई गुना अधिक गहराई में मौरंग का खनन किए जाने से नदी की जलधारा भी अब टूटने लगी है। इतना ही नहीं मौरंग खदानों से निर्धारित क्षमता से कई गुना मौरंग ट्रकों व डंपरों में लोड की जा रही है। इससे सड़कें भी उखड़ने लगी हैं। ग्रामीणों का कहना है कि मौरंग का अवैध खनन इन दिनों अपने चरम पर है अगर इस पर लगाम न लगाई गई तो आगे बहुत सी समस्याएं होंगी।

रिपोर्ट- मयंक राजपूत, जालौन, यूपी