मनीषा ने एवरेस्ट पर राष्ट्रगान गाकर बनाया विश्व रिकॉर्ड

225

फतेहाबादः दुनिया की सबसे ऊंची चोटी एवरेस्ट फतह करके वहां राष्ट्रगान गाने वाली फतेहाबाद के गांव बनावली की बेटी मनीषा पायल का नाम विश्व फलक पर चमका है। मनीषा का नाम एवरेस्ट की चोटी पर राष्ट्र गान गाने वाली पहली महिला पर्वतारोही के तौर पर वल्र्ड बुक ऑफ रिकार्ड में दर्ज किया गया है। मनीषा की इस उपलब्धि के साथ जिला प्रशासन की ओर से उसे जिले की ब्रांड एम्बेसडर बनाया गया है। शनिवार को जिला उपायुक्त नरहरि सिंह बांगड़ ने जानकारी दी कि गणतंत्र दिवस के मौके पर मनीषा को सम्मानित भी किया जाएगा।

एवरेस्ट विजेता मनीषा पायल ने दुनिया की सबसे ऊंची चोटी पर माइनस 45 डिग्री तापमान में अपने देश का राष्ट्रगान गाया। इसके साथ ही अपने राष्ट्रीय ध्वज के साथ अपने देश के पीएम के चित्र वाला झंडा फहराने के मामले में भी मनीषा पायल दुनिया की पहली महिला पर्वतारोही बन गई है। जिला उपायुक्त नरहरि सिंह बांगड़ ने लघु सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में मनीषा पायल को इस उपलब्धि के लिए बधाई देते हुए उसे विश्व रिकार्ड प्रमाण पत्र भेंट किया। साथ ही उन्होंने मनीषा पायल को जिला फतेहाबाद में बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ अभियान की जिला ब्रांड एंबेसडर बनाने की घोषणा भी की। उन्होंने कहा कि पर्वतारोही मनीषा पायल एवरेस्ट फतह करने के बाद यह उपलब्धि हासिल करते हुए पूरे जिला की बेटियों के लिए प्रेरणा स्त्रोत बनी है। प्रशासन गणतंत्र दिवस समारोह में भी मनीषा पायल को सम्मानित करेगा। इस अवसर पर जिन्दगी संस्था अध्यक्ष हरदीप सिंह, समाजसेवी बलजीत सिंह व मनीषा पायल के अभिभावक भी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें-भारतीय मूल के सरन शशिकुमार ने बनाई प्रधानमंत्री मोदी की पोट्रेट

गौरतलब है कि गांव बनावली निवासी महेन्द्र पायल की पुत्री मनीषा पायल ने 22 मई 2019 को एवरेस्ट फतह किया था। इस दौरान दुनिया की सबसे ऊंची चोटी पर राष्ट्रगान करते हुए मनीषा ने अपने दस्ताने निकाल दिए थे, जिससे उसके हाथ की दो उंगलियां क्षतिग्रस्त हो गई थी। इतना ही नहीं मनीषा ने यह मुकाम हासिल करने में अपनी जिन्दगी तक को दांव पर लगाई। करीब 3 माह तक गुरुग्राम के मेदांता मेडिसिटी में इलाज करवाने उपरांत वह अपने परिवार के बीच सकुशल लौट सकी थीं। जिला उपायुक्त नरहरि सिंह बांगड ने कहा कि फतेहाबाद को मनीषा जैसी होनहार बेटियों पर नाज है, क्योंकि इस तरह की प्रतिभावान बेटियां ही दुनिया भर में हमें गर्व महसूस करने का अवसर प्रदान कर रही हैं। जिला प्रशासन मनीषा पायल को सम्मान देने व अपनी प्रतिभा को और निखारने में हरसंभव सहायता करेगा।