ममता ने किया चौंकाने वाला खुलासा, कहा- वाम मोर्चा सरकार में हुई थी हत्या की कोशिश

52
West Bengal, March 24, 2020, (ANI): Chief Minister of West Bengal Mamta Banerjee covers her face as she visits the government hospitals amid coronavirus pandemic, in Kolkata on Tuesday. (ANI Photo)

कोलकाताः पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा चुनाव से पहले आंदोलन की भूमि रहे नंदीग्राम में चौंकाने वाला खुलासा किया है। उन्होंने दावा किया है कि 2007 में वाम मोर्चा के शासन के दौरान हुए आंदोलन में उनकी हत्या की कोशिश की गई थी। बनर्जी सोमवार को नंदीग्राम में एक जनसभा को संबोधित कर रही थीं। उन्होंने नंदीग्राम आंदोलन के मुख्य सूत्रधार तथा भाजपा में शामिल पूर्व मंत्री शुभेंदु अधिकारी को लेकर कई गंभीर आरोप लगाए।

जनसभा में उन्होंने कहा कि नंदीग्राम के मामले में वह किसी से भी ज्ञान नहीं लेंगी। नंदीग्राम आंदोलन किसने किया, जनता इस बारे में जानती हैं। ममता ने उन दिनों को याद करते हुए कहा कि सूर्योदय के बाद माकपा सरकार ने यहां मीडिया का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया था और मैं यहां बैठकर पहरा दे रही थी। उन्होंने दावा करते हुए कहा कि तत्कालीन बंगाल के राज्यपाल ने मुझे बताया था कि मेरी हत्या की कोशिश हो रही है। मुझे रोकने की कोशिश की गई, इसके बाद भी सभी बाधाओं को पार कर मैं नंदीग्राम आई थी। पेट्रोल बम के जरिए मुझे जलाने की कोशिश की गई थी।

सच्चाई यह है कि नंदीग्राम का आंदोलन यहां अबू सुफियान और अबू ताहिर जैसे लोगों ने किया था। यहां की मां-बहनों ने आंदोलन किया था।
उन्होंने कहा कि सच्चाई यह है कि नंदीग्राम आंदोलन की शुरुआत सिंगूर से हुई थी। मेरे ही आंदोलन की वजह से बाध्य होकर केंद्र सरकार ने कहा था कि किसानों को उनकी जमीन से जबरन बेदखल नहीं किया जा सकेगी। मेरी वजह से कानून बदला था। ममता ने केंद्र सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि सरकार तीनों कृषि कानूनों को वापस नहीं लेती है तो नंदीग्राम और सिंगूर की तरह आंदोलन किया जायेगा।

कुछ लोग काला धन बचाने के लिए भाजपा में गए

उन्होंने इशारों में शुभेंदु अधिकारी और उन सभी विधायकों पर हमला बोला, जो भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम चुके हैं। ममता ने कहा कि कुछ लोग इधर-उधर हो रहे हैं लेकिन वे भाजपा में अपना काला धन बचाने के लिए गए हैं। क्षेत्र से तृणमूल विधायक अखिल गिरी के बेटे सुप्रकाश गिरी से अधिकारी परिवार की राजनीतिक लड़ाई का दावा करते हुए ममता ने कहा कि उन्हें (शुभेंदु अधिकारी) को पहले सुप्रकाश गिरी से लड़ना होगा, उसके बाद तृणमूल कांग्रेस से लड़ें। उन्होंने कहा कि भाजपा के नेता कह रहे हैं कि जेल जाओ या भाजपा में आओ। भाजपा वाशिंग मशीन बन गई है। काला धन उसमें जाता है और सफेद होकर बाहर आता है।

यह भी पढ़ेंः-पवार की रजामंदी से बनी थी एनसीपी-बीजेपी सरकार, फडणवीस ने किया बड़ा खुलासा

उन्होंने नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र में नंदीग्राम से हल्दिया तक बेहतर यातायात के लिए सड़क और ब्रिज बनाने का भी आश्वासन दिया। ममता ने कहा कि हल्दिया यहां का सबसे बड़ा शहर है। नंदीग्राम से हल्दिया तक जाने के लिए राज्य सरकार सड़क और ब्रिज बनवाएगी।