मंत्री संदीप सिंह के खिलाफ सड़कों पर उतरी महिला कांग्रेस, गिरफ्तारी की मांग

चंडीगढ़: हरियाणा के पूर्व खेल मंत्री संदीप सिंह की गिरफ्तारी की मांग को लेकर महिला कांग्रेस आज सड़क पर उतर आई। प्रदेश अध्यक्ष सुधा भारद्वाज के नेतृत्व में महिला कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पंचकूला से चंडीगढ़ तक मार्च किया। जब चंडीगढ़ पुलिस ने उन्हें अपनी सीमा में घुसने से रोका तो पुलिस के साथ काफी धक्का-मुक्की भी हुई। इसके बाद महिला कांग्रेस ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा।

पंचकूला में प्रदेश भर से आई महिला कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए सुधा भारद्वाज ने कहा कि आज हरियाणा में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं क्योंकि हरियाणा में सरकार नाम की कोई चीज ही नहीं है। यह राज्य भगवान के भरोसे चल रहा है। आज महिलाएं, बहनें और बेटियां किसी दुश्मन से नहीं बल्कि हरियाणा की बीजेपी सरकार और केंद्र और उसके गुंडों से हैं। जो सरकार में बैठकर हमारी बहन बेटियों की इज्जत पर हाथ रख रहे हैं। महिला कोच ने हिम्मत जुटाकर संदीप सिंह के खिलाफ आवाज उठाई, लेकिन मनोहर सरकार ने संदीप सिंह को बचाने में पूरी ताकत झोंक दी है। महिला कोच को उनके कार्यालय में प्रताड़ित किया जा रहा है। पूरी सरकार एक महिला को चरित्रहीन साबित करने में लगी है। यौन शोषण का आरोपी खुलेआम घूम रहा है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा की महिला खिलाड़ी विनेश फोगाट और कई अन्य लोगों ने तीन दिनों तक दिल्ली में धरना दिया और कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृज भूषण पर यौन शोषण का आरोप लगाया। बृजभूषण बीजेपी के सांसद भी हैं। इस पर भी हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खामोश रहे। अब करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज की छात्राओं ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। आए दिन बेटियों के साथ छेड़खानी की घटनाएं हो रही हैं। हमारी बेटियां स्कूल, कॉलेज, यूनिवर्सिटी में कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं।

नारायणगढ़ विधायक शैली चौधरी, पंचकूला की पूर्व मेयर उपिंदर कौर अहलूवालिया, मोनिका डुमरा, प्रदेश उपाध्यक्ष विमल सरेह, उषा कुमारी, गीता भारती, सत्या शर्मा, निर्मल बल्हारा, रीना मलिक, नीलम बालियान, नीलम देवी, दीप्ति शर्मा समेत कई महिलाओं ने हिस्सा लिया। प्रदर्शन। आँखों ने भाग लिया।

झंडा फहराना बंद करो

गणतंत्र दिवस पर पिहोवा में संदीप सिंह के प्रस्तावित ध्वजारोहण पर हरियाणा प्रदेश महिला कांग्रेस ने आपत्ति जताते हुए कहा कि हरियाणा के इतिहास में ऐसा पहली बार हो रहा है, जब 26 जनवरी को यौन उत्पीड़न और छेड़छाड़ के आरोपी झंडा फहराने जा रहे हैं। मोदी और खट्टर हैं तो भी मुमकिन है। महिला कांग्रेस ने एकजुटता दिखाते हुए कहा कि संदीप सिंह झंडे का अनादर करने जा रहे हैं। उन्होंने राज्यपाल से संवैधानिक शक्तियों का प्रयोग कर इसे रोकने की मांग की।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)