Ladakh: लद्दाख में पांच जवानों के बलिदान पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह समेत तमाम नेताओं ने जताया दुख

46
ladakh-during-tank-exercise

New Delhi : लद्दाख ( Ladakh) के दौलत बेग ओल्डी इलाके में टैंक युद्ध अभ्यास के दौरान एक जूनियर कमीशंड ऑफिसर (जेसीओ) समेत पांच सैन्यकर्मी शहीद हो गए। इस हादसे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई नेताओं ने दुख जताया है।

नेताओं ने जताया दुख 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर लिखा, “लद्दाख में नदी पार करते समय हुए दुर्भाग्यपूर्ण हादसे में भारतीय सेना के पांच बहादुर जवानों की जान जाने से मुझे गहरा दुख हुआ है। हम देश के लिए अपने बहादुर सैनिकों की अनुकरणीय सेवा को कभी नहीं भूलेंगे। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना है। दुख की इस घड़ी में पूरा देश उनके साथ खड़ा है।”

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने लद्दाख की घटना पर दुख व्यक्त करते हुए लिखा, “लद्दाख में नदी पार करते समय एक जेसीओ सहित पांच भारतीय सेना के जवानों की मौत से गहरा दुख हुआ। इस दुखद त्रासदी का शिकार हुए सैन्य कर्मियों के परिवारों के प्रति हमारी हार्दिक संवेदना। दुख की इस घड़ी में पूरा देश हमारे बहादुर सैनिकों की अनुकरणीय सेवा को सलाम करने के लिए खड़ा है।”

ये भी पढ़ेंः-Ladakh: लद्दाख में टैंक अभ्यास के दौरान भयानक हादसा, जेसीओ समेत 5 जवान शहीद

अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए लिखा, “यह जानकर बहुत दुख हुआ कि लद्दाख के न्योमा-चुसुल इलाके में वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास अचानक आई बाढ़ में पांच सैनिकों के साथ एक टी-72 टैंक बह गया। मैं हमारे बहादुर सैनिकों की सुरक्षा और कुशलता के लिए प्रार्थना करता हूं।”

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने सोशल मीडिया हैंडल पर लिखा, “लद्दाख में नियंत्रण रेखा के पास अचानक आई बाढ़ में सेना के पांच जवानों के शहीद होने की खबर बेहद दुखद है। ईश्वर दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करें। शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है। इस सर्वोच्च बलिदान के लिए देश हमेशा हमारे बहादुर सैनिकों और उनके परिवारों का ऋणी रहेगा।”

नदी में अचानक आई बाढ़ से हुआ हादसा

गौरतलब है कि लद्दाख (Ladakh) क्षेत्र के लेह शहर में शुक्रवार को वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के पास दौलत बेग ओल्डी इलाके में टैंक युद्ध का अभ्यास चल रहा था। इस अभ्यास के दौरान टैंक जिस नदी को पार कर रहे थे, उसके आसपास मौजूद ऊंचे इलाकों में अचानक बादल फटने से बाढ़ आ गई। अचानक आई बाढ़ के कारण एक टी-72 टैंक पानी बह गया। जिसमें पांच सैनिक शहीद हो गए। इसके बाद बचाव अभियान शुरू किया गया। पांचों जवानों के शव बरामद कर लिए गए हैं। शहीद हुए जवानों की पहचान हो गई है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)