दस हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा गया बाट-माप विभाग का लैब अटेंडेंट

40
lab-attendant-arrested-while

सोनभद्रः एंटी करप्शन टीम ने गुरुवार की रात करीब नौ बजे रॉबर्ट्सगंज कोतवाली क्षेत्र के चंडी तिराहा के पास बाट-माप विभाग के लैब अटेंडेंट को 10 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। एंटी करप्शन टीम ने रात करीब दस बजे तक मामले की तहरीर रॉबर्ट्सगंज कोतवाली में दर्ज कराई। एंटी करप्शन वाराणसी के प्रभारी निरीक्षक विनय सिंह ने बताया कि मुगलसराय निवासी नंदलाल गुप्ता बाट-माप विभाग में मशीन रिपेयर का काम करता है।

बिल भुगतान के एवज में मांगे रुपए

उसने कुछ मशीनों की मरम्मत कराकर बिल विभाग को दिया था। वह लगातार भुगतान पाने का प्रयास कर रहा था, लेकिन विभाग में तैनात लैब अटेंडेंट संजीव जायसवाल इस भुगतान के एवज में उससे 10 हजार रुपये रिश्वत मांग रहा था। काफी दिनों तक भुगतान न मिलने से परेशान नंदलाल ने इसकी शिकायत वाराणसी की एंटी करप्शन टीम से की। इसके बाद जब नंदलाल ने चंडी तिराहा के पास लैब अटेंडेंट को 10 रुपये की रिश्वत दी तो टीम ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

यह भी पढ़ेंः-Yoga Day 2024: पीएम मोदी ने श्रीनगर में हजारों लोगों के साथ किया योग, बोले- योग से मिलती है ऊर्जा

लगातार बना रहा था दबाव

एंटी करप्शन इंस्पेक्टर विनय सिंह ने बताया कि इस मामले में बाट-माप विभाग के इंस्पेक्टर सुरेश कुमार को भी 120 बी के तहत आरोपी बनाया जाएगा, क्योंकि वह लगातार रिश्वत लेने का दबाव बना रहा था। उसके निर्देश पर ही लैब अटेंडेंट ने रिश्वत ली थी।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)