Kathua Terror Attack : तिरंगे में लिपटकर घर पहुंचे शहीद, शोक में डूबा पूरा उत्तराखंड

85
kathua-terror-attack

Kathua Terror Attack, देहरादून: जम्मू-कश्मीर के कठुआ में सोमवार को हुए आतंकी हमले में सेना के पांच जवान शहीद गए थे। ये सभी जवान उत्तराखंड के रहने वाले थे। वहीं बुधवार को तिरंगे में लिपटकर शहीदों का पार्थिव शरीर उत्तराखंड जैसे पहुंचा पूरा प्रदेश शोक में डूब गया। तिरंगे में लिपटे वीर सपूतों को आज देहरादून में अश्रुपूर्ण विदाई दी गई। इस दौरान उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी भी मौजूद रहे।

उत्तराखंड के एक साथ पांच जवानों की शहादत के बाद पूरे प्रदेश में शोक की लहर दौड़ गई। इसके साथ ही शहीदों के घरों में भी मातम छाया हुआ है। शहीदों के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। शहीद हुए पांचों जवानों में दो पौड़ी, दो टिहरी और एक रुद्रप्रयाग के रहने वाले थे, जिनके पार्थिव शरीर आज देहरादून के जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचे, जहां श्रद्धांजलि देने के बाद सभी पार्थिव शरीरों को राजकीय सम्मान के साथ उनके घर ले जाया गया। इनका अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव में किए जाएंगे।

Pushkar Singh Dhami (पुष्कर सिंह धामी) ने कहा- बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा

सीएम धामी ने कहा कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। हमारे वीर जवानों ने उत्तराखंड की समृद्ध सैन्य परंपरा को कायम रखते हुए मातृभूमि के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया है। मानवता के दुश्मनों और इस कायराना हमले के दोषी आतंकियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। साथ ही उन्हें शरण देने वालों को भी इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि दुख की इस घड़ी में पूरा प्रदेश शहीद के परिजनों के साथ खड़ा है।

ये भी पढ़ेंः- Kathua Terrorist Attack: कठुआ में 5 जवानों की शहादत पर राजनाथ सिंह दुखी, बताया क्या होगा अगला कदम

गढ़वाल राइफल्स के थे शहीद पांचों जवान

नायब सूबेदार, आनंद सिंह (रुद्रप्रयाग, कंडाखाल)
हवलदार कमल सिंह (पौड़ी गढ़वाल, पिपरी)
नायक विनोद सिंह (टिहरी गढ़वाल, जाखणीधार)
राइफलमैन आदर्श सिंह नेगी (टिहरी गढ़वाल, पट्टी डागर)
राइफलमैन अनुज सिंह नेगी (पौड़ी गढ़वाल, रिखणीखाल)

घात लगाकर आतंकियों ने किया हमला

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के कठुआ (Kathua Terror Attack) में सोमवार को आतंकियों ने अचानक सेना के वाहन पर ग्रेनेड से हमला कर दिया। घात लगाकर किए गए इस हमले में सेना के 5 जवान शहीद हो गए जबकि पांच अन्य जवान घायल भी हुए हैं। सभी शहीद जवान उत्तराखंड के थे। इससे पहले शनिवार को कश्मीर के कुलगाम में दो मुठभेड़ों में छह आतंकवादी मारे गए थे। इस दौरान दो जवान शहीद हो गए थे। अधिकारियों ने रविवार को बताया था कि मोदरगाम मुठभेड़ में दो आतंकवादियों के शव बरामद किए गए थे जबकि रविवार को चिन्नीगाम से चार शव बरामद किए गए थे।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)