उदयपुर कन्हैयालाल हत्याकांड : दोनों आरोपी हाई सिक्योरिटी अजमेर जेल शिफ्ट

उदयपुर

उदयपुरः राजस्थान के उदयपुर में भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपूर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले कन्हैयालाल की निर्मम हत्या और हत्या के बाद प्रधानमंत्री मोदी तक को चुनौती देने का वीडियो वायरल करने के मामले में दोनों आरोपितों रियाज और गौस मोहम्मद को गुरुवार देर रात अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में शिफ्ट कर दिया गया। शाम को अदालत ने आरोपितों को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने के आदेश दिए थे। शुक्रवार सुबह उनका मेडिकल कराया गया।

ये भी पढ़ें..नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार, कहा-बदजुबानी के लिए देश से मांगे माफी

बताया गया है कि इन्हें राजस्थान में ही रखा जाएगा। इन्हें एनआईए ट्रांजिट रिमांड पर पूछताछ के लिए जयपुर ले जा सकती है। इस हत्याकांड में पुलिस की शर्मनाक लापरवाही सामने आने के बाद उदयपुर के एसपी मनोज कुमार और आईजी हिंगलाज दान को हटा दिया गया है। सबंधित धानमण्डी थाने के एएसआई भंवरलाल और एसएचओ गोविन्द सिंह को पहले ही निलम्बित किया जा चुका है।

बता दें कि राजस्थान पुलिस की विशेष टीम ने गुरुवार को उदयपुर शहर के समीपवर्ती सापेटिया गांव में भी छापा मारा था। आरोपितों ने यहीं से वीडियो वायरल किए थे। एसआईटी ने एसके इंजीनियरिंग नाम के इस वर्कशॉप को सील कर दिया। फिलहाल वर्कशॉप के मालिक शोयेब के पकड़े जाने की कोई जानकारी नहीं है। छापा कार्रवाई के दौरान वारदात में प्रयुक्त हथियार यहां से बरामद हुए हैं। हत्या में शामिल एक आरोपित रियाज का भीलवाड़ा जिले के आसींद से संबंध है। रियाज का जन्म आसींद में हुआ था, लेकिन वर्ष 2001 में शादी के बाद से ही वह उदयपुर में रह रहा था। इन दोनों का पाकिस्तानी कनेक्शन भी सामने आ चुका है।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)