आचार संहिता हटते ही शुरू हुआ तबादलों का दौर, IPS भगत सिंह को मिली हमीरपुर की कमान

8
आचार संहिता

शिमला: हिमाचल में आचार संहिता हटते ही तबादलों का दौर शुरू हो गया है। कांग्रेस की सत्ताधारी सुक्खू सरकार ने सबसे पहले मुख्यमंत्री के गृह जिले हमीरपुर के एसपी का तबादला किया है। आईपीएस अधिकारी भगत सिंह को हमीरपुर का नया एसपी नियुक्त किया गया है। भगत सिंह 2015 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं और मंडी जिले की तीसरी बटालियन पंडोह में कमांडेंट थे। राज्य सरकार ने हमीरपुर के एसपी पद्म चंद को तीसरी बटालियन पंडोह में कमांडेंट तैनात किया है। मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना ने शुक्रवार देर रात इस संबंध में आदेश जारी किए हैं।

आचार संहिता हटने के बाद सुक्खू सरकार का यह पहला तबादला है। अहम बात यह है कि मुख्यमंत्री के गृह जिले के एसपी को महज चार महीने में बदला गया है। आईपीएस अधिकारी पद्म चंद को 31 जनवरी 2024 को हमीरपुर का एसपी लगाया गया था। अब आचार संहिता हटते ही उनका तबादला कर दिया गया है।

एसएचओ से एसपी पद तक पहुंचे भगत सिंह

शिमला निवासी भगत सिंह, जिन्हें हमीरपुर का नया एसपी बनाया गया है, वर्ष 1994 में बतौर इंस्पेक्टर पुलिस विभाग में शामिल हुए थे। उन्होंने सोलन और पांवटा साहिब में एसएचओ के पद पर सेवाएं दी। इसके बाद वर्ष 2000 में डीएसपी के पद पर पदोन्नत हुए और पांवटा साहिब, राजगढ़ और परवाणू में डीएसपी के पद पर सेवाएं दी। इसके अलावा उन्होंने एचपीयू में मुख्य सुरक्षा अधिकारी का पदभार भी संभाला। वह बिलासपुर, सिरमौर और सोलन जिलों में एएसपी के पद पर भी तैनात रहे। वर्ष 2015 में वह एसपी बने और इसके बाद एसपी किन्नौर, एसपी स्टेट सीआईडी ​​शिमला, एआईजी रेलवे और ट्रैफिक पुलिस, एसपी एस्टेट एंड वेलफेयर, एसपी लॉ एंड ऑर्डर और कमांडेंट जुन्गा के पद पर सेवाएं दी।

 यह भी पढ़ेंः-मराठा आरक्षणः बिना अनुमति के भूख हड़ताल बैठे मनोज जरांगे, पुलिस बल तैनात

भगत सिंह को वर्ष 2021 में उत्कृष्ट सेवाओं के लिए राष्ट्रपति पुलिस पदक भी मिल चुका है। इसके अलावा उन्हें दो बार डीजी डिस्क अवॉर्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है। वह राष्ट्रीय मुक्केबाजी खिलाड़ी और राष्ट्रीय स्वर्ण पदक विजेता भी रह चुके हैं।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)