आज खेला जाएगा IPL का 1000वां मैच, MI vs RR के बीच खेला जाएगा ऐतिहासिक मुकाबला

11

ipl-2023-mi- vs-rr-1000th

नई दिल्लीः मुंबई का प्रतिष्ठित वानखेड़े स्टेडियम दो बड़े अवसरों का जश्न मनाने के लिए तैयार है। IPL 2023 में रविवार यानी आज मुंबई इंडियंस का सामना राजस्थान रॉयल्स से होगा। वानखेड़े स्टेडियम में होने वाले इस मुकाबले में दर्शकों को दोहरी खुशी मिलने वाली है। पहला आईपीएल अपने ऐतिहासिक 1000वें मैच की मेजबानी करने के लिए तैयार है, तो वहीं दूसरी मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा आज अपने 36वें जन्मदिन पर अपने घरेलू मैदान वानखेड़े स्टेडियम पर खेलेंगे उतरेंगे।

मुंबई की वापसी करना बखूबी जानती है

IPL 2023 भले ही मुंबई इंडियंस और रोहित शर्मा के लिए यादगार न रहा हो, लेकिन यह टीम वापसी करना बखूबी जानती है। भारत के पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने दावा किया है कि मुंबई इंडियंस लगातार दो मैच हारने के बावजूद वापसी करने में सक्षम है और कप्तान रोहित शर्मा को अनावश्यक दबाव नहीं लेना चाहिए।

ये भी पढ़ें..Wrestlers Protest: बृजभूषण सिंह के खिलाफ शिकायत कराने वाली सभी पहलवानों को पुलिस ने दी सुरक्षा

स्टार स्पोर्ट्स के शो क्रिकेट लाइव में टीम इंडिया के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी सहवाग ने कहा, ‘मुंबई इंडियंस ने दो मैच भले ही लगातार हारे हैं, लेकिन उनके लिए अभी सब कुछ खत्म नहीं हुआ है। रोहित को कप्तानी के दबाव के आगे नहीं झुकना चाहिए और खुलकर अपना खेल खेलना चाहिए।’ यह टीम वापसी करने की क्षमता रखती है। यह टीम अभी भी प्लेऑफ़ के लिए क्वालीफाई कर सकती है।”

हर क्रिकेटर मुंबई इंडियंस के ड्रेसिंग रूम का बनना चाहता है हिस्सा 

भारत के पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह ने भी वीरेंद्र सहवाग की राय से सहमति जताई और कहा कि मुंबई इंडियंस की विरासत ऐसी है कि हर खिलाड़ी इस फ्रेंचाइजी का हिस्सा बनना चाहता है और टाटा आईपीएल 2023 में इसे पुनर्जीवित करना रोहित की जिम्मेदारी होगी। हरभजन ने कहा, “मुंबई की एक अनूठी विरासत है। हर क्रिकेटर इस फ्रेंचाइजी का हिस्सा बनने की इच्छा रखता है। हालांकि इस साल स्थिति थोड़ी बदली है, रोहित पर इस विरासत को पुनर्जीवित करने की जिम्मेदारी है। और प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं। अब यह उनकी है। इन खिलाड़ियों को तैयार करने का काम है।”

भारत के पूर्व क्रिकेटर इरफान पठान का मानना ​​है कि मुंबई इंडियंस टाटा आईपीएल 2023 में संघर्ष कर रही है क्योंकि उनके गेंदबाज नए बल्लेबाजों पर दबाव नहीं बना पा रहे हैं। भारतीय टीम के पूर्व तेज गेंदबाज इरफान ने भी कहा, “मुंबई के गेंदबाजों के साथ समस्या यह है कि वे नए बल्लेबाजों को जमने दे रहे हैं। उन्होंने अनकैप्ड बल्लेबाजों को भी आक्रामक खेलने दिया है। पीयूष चावला को छोड़कर लगभग हर गेंदबाज ने सही क्षेत्रों में लगातार गेंदबाजी नहीं की है।”

“मुंबई के गेंदबाजों के साथ बड़ी समस्या ये है कि वो नए बल्लेबाजों को जमने का मौका दे रहे है। साथ ही अनकैप्ड खिलाड़ी को भी खुलकर व आक्रामक बल्लेबाजी करने के पूरे मौके दिए जा रहे हैं। पीयूष चावला को छोड़कर, लगभग सभी गेंदबाज ने सही दिशा में लगातार गेंदबाजी नहीं कर पा रहे है।”

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)