साकार हुआ सपना ! भारतीय रेलवे ने दुनिया के सबसे ऊंचे रेल पुल पर किया ट्रायल रन

43
indian-railways-did-a-trial-

Indian Railways, रियासीः संगलधन से रेलवे स्टेशन रियासी तक दस कोच वाली ट्रेन का वीरवार को ट्रायल रन पूरी तरह सफल रहा। इस दौरान ट्रेन दुनिया के सबसे ऊंचे रेलवे पुल से गुजरी। यह ट्रेन दोपहर करीब 12 बजे संगलधन से रियासी के लिए रवाना हुई। दोपहर करीब दो बजे रियासी पहुंचने पर रेलवे स्टेशन भारत माता की जय के नारे से गूंज उठा। ट्रायल रन ट्रेन में प्रोजेक्ट पर काम कर रहे कर्मचारी बैठे थे। इसके अलावा ट्रेन में रेलवे के अधिकारी भी मौजूद थे। ट्रायल रन पूरा होने के बाद इस महीने के अंत तक ट्रेन को रियासी से कश्मीर के लिए चलाया जा सकता है। इस मौके पर पूर्व सरपंच राज कुमार शर्मा ने कहा कि लंबे समय के बाद लोगों का सपना साकार हुआ है।

अभी बाकी है अंतिम ट्रायल

बीस साल पहले जब काम शुरू हुआ था तो कई तरह की दिक्कतें आई थीं। रेलवे ने पहाड़ों को काटकर रास्ता तैयार किया। इसके बाद सुरंगें बनाई गईं और आज ट्रेन का इंजन कुछ डिब्बों के साथ आ गया है। आने वाले दिनों में ट्रेन पूरी तरह बनकर आ जाएगी। तरुण शर्मा ने रेलवे स्टेशन रियासी से धुग्गा तक ट्रेन में सफर किया और इसे ऐतिहासिक बताया। रियासी में करीब बीस मिनट रुकने के बाद ट्रेन रवाना हो गई। अब इस ट्रेन का अंतिम ट्रायल कमिश्नर रेलवे सेफ्टी द्वारा 27 और 28 जून को किया जाना है।

यह भी पढ़ेंः-उत्तराखंड में जमीन खरीदना नहीं होगा आसान, CM धामी का बड़ा फैसला

1486 करोड़ की लागत से बना पुल

आपको बता दें कि चिनाब रेल पुल के निर्माण में कुल 30,000 मीट्रिक टन स्टील का इस्तेमाल किया गया है। इस पुल का निर्माण 1486 करोड़ की लागत से किया गया है। यह 260 किलोमीटर प्रति घंटे की हवा की गति को झेल सकता है। इस पुल का निर्माण उधमपुर-श्रीनगर-बारामुल्ला रेल लिंक परियोजना के तहत किया गया है। ट्रेन 7 स्टेशनों से होते हुए बारामुल्ला पहुंचेगी

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर(X) पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें)