दिल्ली की गाजीपुर फूल मंडी में बैग में मिले IED को किया गया निष्क्रिय

नई दिल्ली: गणतंत्र दिवस से कुछ दिन पहले राष्ट्रीय राजधानी की गाजीपुर फूल मंडी में शुक्रवार सुबह एक लावारिस बैग के अंदर से इंप्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आईईडी) मिलने की सूचना से हड़कंप मच गया। विस्फोटक मिलने की जानकारी मिलते ही आसपास के लोगों में दहशत फैल गई।

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, एक संदिग्ध बैग से एक आईईडी बरामद किया गया है और इसे निष्क्रिय करने के लिए एक नियंत्रित विस्फोट किया गया। दमकल विभाग के एक अधिकारी के अनुसार, शहर की गाजीपुर फूल मंडी में एक लावारिस बैग पड़े होने की सूचना सुबह करीब 10.20 बजे मिली, जिसके बाद दमकल की एक गाड़ी को मौके पर भेजा गया।

अधिकारियों ने कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के बम निरोधक दस्ते की एक टीम और दिल्ली पुलिस की आतंकवाद रोधी इकाई, विशेष प्रकोष्ठ के अधिकारी भी स्थिति का जायजा लेने के लिए मौके पर पहुंचे। इसके बाद पुलिस ने लोगों की सुरक्षा के लिए पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी। बम निरोधक दस्ते द्वारा विस्फोट को रोकने के लिए टोटल कंटेनमेंट वेसल (टीवीसी) नामक एक बम डिस्पोजल कंटेनर लाया गया था।

एनएसजी बम निरोधक दस्ते ने पुलिस कर्मियों की मदद से एक खुले मैदान में लगभग 8 फीट की खाई खोदी, जहां आईईडी से लदे बैग का निपटान किया गया। एक अधिकारी ने कहा, एनएसजी ने दोपहर करीब 1.30 बजे बरामद आईईडी का नियंत्रित विस्फोट (निष्क्रिय) किया। क्षेत्र और उसके आसपास भारी पुलिस बल को तैनात किया गया है। स्पेशल सेल ने एक्सप्लोसिव एक्ट के संबंधित प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया है।

अधिकारी ने कहा, जांच शुरू कर दी गई है और फॉरेंसिक टीमों ने मौके से सबूत जुटाए हैं और जांच के लिए ले गए हैं। इस बीच, राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड के महानिदेशक एम. ए. गणपति ने बताया कि जिसमें आईईडी था, उस काले रंग के बैग का वजन करीब 3 किलो था। गणपति ने बताया, ऐसा लगता है कि यह संभवत: आरडीएक्स और अमोनियम नाइट्रेट का मिश्रण था, जिसका वजन लगभग 3 किलो था।

सूत्रों ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में पुलिस आगामी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मद्देनजर पहले से ही अलर्ट पर है। हाल ही में एक शीर्ष अधिकारी ने कहा था, ऐसे आयोजनों का इस्तेमाल देश विरोधी तत्व शहर में आतंकी हमलों को अंजाम देने के लिए कर सकते हैं। सितंबर 2021 में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आईएसआई और अंडरवर्ल्ड के एक बड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया था और देश के कई जगहों से पाकिस्तान से प्रशिक्षित 8 आतंकियों को गिरफ्तार किया था।

यह भी पढ़ेंः-बंगाल की खाड़ी में भारत और जापान के जहाजों ने किया समुद्री साझेदारी अभ्यास

गिरफ्तार आतंकी इस त्योहारी सीजन के दौरान देश में आतंकी हमले को अंजाम देने की योजना बना रहे थे। एक महीने बाद अक्टूबर में, पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) प्रशिक्षित आतंकवादी को राष्ट्रीय राजधानी के लक्ष्मी नगर इलाके से गिरफ्तार किया गया था। गिरफ्तारी के समय, पुलिस ने उसके पास से एक एके 47 राइफल सहित कई अन्य हथियार और गोला-बारूद बरामद किए।

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर  पर फॉलो करें व हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…)